Published On : Mon, Mar 1st, 2021

आज से 60+ के बुजुर्गों और 45+ के बीमारों को लगेगा कोरोना का टीका

नागपुर– कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीनेशन का दूसरा चरण आज से शुरू हो गया. दूसरे चरण में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों एवं अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 साल से अधिक उम के लोगों को टीका लगाया जाएगा. दूसरे चरण के तहत योग्य लोग आज से ही कोविन पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा पायेंगे. लोग सेंटर्स पर भी जाकर भी रजिस्ट्रेशन करवा पाएंगे. कोविड-19 टीका सरकारी अस्पतालों में मुफ्त दिया जायेगा, जबकि निजी अस्पतालों में लोगों को इसके लिए भुगतान करना होगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पीएम मोदी ने खुद दूसरे चरण के पहले दिन कोविड वैक्सीन की पहली खुराक ली. साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कि जो भी इस वैक्सीन के लिए योग्य हैं वह आगे आएं और इसमें हिस्सा लें. 10 प्वाइंट्स में समझें, कोविड-19 वैक्सीन से जुड़ी प्रमुख बातें.

कोविड-19 की वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन आज सुबह 9 बजे से शुरू हो गए. पात्र लाभार्थी अपनी पसंद का केंद्र चुन सकते हैं और उपलब्ध स्लॉट के आधार पर अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं. मंत्रालय ने ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी दी है लेकिन यह सुविधा कुछ ही राज्यों में मिल सकेगी. उदाहरण के तौर पर दिल्ली में ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन नहीं हो सकेंगे लेकिन पंजाब में यह सुविधा मिल सकेगी.

नागरिक किसी भी समय और कहीं भी टीकाकरण के लिए पंजीकरण और बुकिंग को-विन2.0 पोर्टल का उपयोग करके या आरोग्य सेतु जैसे अन्य आईटी एप्लीकेशन के माध्यम से कर सकते हैं.

प्रत्येक खुराक के लिए किसी भी समय लाभार्थी के लिए केवल एक ही लाइव अपॉइंटमेंट होगा. किसी भी तारीख के लिए किसी कोविड टीकाकरण केंद्र के लिए अपॉइंटमेंट उस दिन अपराह्न 3 बजे बंद कर दिए जाएंगे, जिसके लिए स्लॉट खोले गए थे.
आयुष्मान भारत-PMJAY के तहत लगभग 10,000 निजी अस्पतालों, CGHS के तहत सूचीबद्ध 600 से अधिक अस्पतालों और राज्य सरकारों की स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत अन्य निजी अस्पताल कोविड टीकाकरण केन्द्रों (CVC) के रूप में शामिल हो सकते हैं.

पंजाब और हरियाणा में कोविड-19 टीकाकरण का तीसरा चरण आज से शुरू हुआ. पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने रविवार को बताया कि 60 साल की उम्र से अधिक के वरिष्ठ नागरिकों को टीका दिया जाएगा.

गुजरात में कोविड-19 टीका लगवाने के लिए योग्य व्यक्ति आज से शुरू हो रहे दूसरे चरण के टीकाकरण अभियान के दौरान 522 निर्धारित निजी अस्पतालों में 250 रुपये भुगतान कर टीके की एक खुराक ले सकते हैं. राज्य सरकार ने शनिवार को यह घोषणा की.

कोविड-19 टीका सरकारी अस्पतालों में मुफ्त दिया जायेगा, जबकि निजी अस्पतालों में लोगों को इसके लिए भुगतान करना होगा. प्राप्त जानकारी के अनुसार टीके के लिए अधिकतम शुल्क 250 रुपये लिया जाएगा, जिसमें 150 रुपये टीके की कीमत और 100 रुपये सेवा शुल्क है. केंद्र सरकार की वेबसाइट के मुताबिक सोमवार सुबह तक 1,43,01,266 लोगों को वैक्सीन की खुराक लग चुकी है.

मंत्रालय ने टीकाकरण में शामिल किए जाने वाले 45 से 59 वर्ष की आयु के लोगों में 20 गंभीर बीमारियों के बारे में भी बताया. इनमें ह्रदय की बीमारी, कोरोनरी धमनी रोग, CT /MRI -स्ट्रोक, 10 साल से अधिक समय से मधुमेह, उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारी आदि शामिल हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और अन्य बीमारियों से पीड़ित 45-59 वर्ष के लोगों के लिए पंजीकरण शुरू होने से पहले राज्यों एवं जिलों को कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों (सीवीसी) का पूर्व पंजीकरण को-विन 2.0 पोर्टल पर कराना जरूरी होगा ताकि नागरिकों को सीवीसी की सूची उपलब्ध हो सके.

सभी लाभार्थियों को तस्वीर युक्त पहचान पत्र–आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र–आदि लेकर टीकाकरण केंद्र जाना होगा. भारत में दुनिया का सबसे बड़ा कोविड-19 टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू हुआ था और अब तक 1,43,01,266 लोगों को टीके लगाये जा चुके हैं.