Published On : Wed, Sep 25th, 2019

गोंदिया : राहगीर पर प्राणघातक हमला

लूटपाट में असफल हुए 2 बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

गोंदिया : गोंदिया शहर में अपराध सिर चढ़कर बोल रहा है, पुलिस की गश्त सुस्त होने का लाभ शातिर अपराधी उठा रहे है और वे राहजनी, लूटपाट जैसे संगीन अपराधों को ना सिर्फ अंजाम दे रहे है बल्कि कई अवसरों पर लूटपाट में असफल होने पर अपराधी अपने शिकार पर प्राण घातक हमला करने भी में देर नही करते।

दिल दहला देने वाली घटना शहर के हृदय स्थल कहे जानेवाले जयस्तंभ चौक निकट जे.एम. हायस्कूल ग्राउंड पर मंगलवार 24 सितंबर के सुबह 8.30 से 9 बजे के दौरान घटित हुई।

परप्रांतीय सवारी को 2 बदमाश रिक्शे में बिठाकर उसे गुमराह करते हुए जे.एम. हायस्कूल के ग्राउंड पर लेकर पहुंचे तथा सुनसान इलाके का लाभ उठाकर उसके जेब की जबरन तलाशी लेनी शुरू कर दी। वह व्यक्ति हल्के नशे के सुरूर था किंतु बदमाशों के हरकतों का विरोध करता रहा लेकिन लुटेरे उसके पैंट की झड़ती लेते रहे, जब कुछ नही मिला तो उस व्यक्ति का शर्ट तक उतारकर उसकी तलाशी ले ली गई। यहां भी कुछ विशेष रकम न मिलने से तथा भविष्य में खुद की शिनाख्त होकर पकड़े जाने के डर से एक अपराधी ने पास पड़ी बड़ी फर्शी (पड़प्पा) दोनोें हाथों से उठाया और मुंह और सिर के पिछले हिस्से पर 3 जोरदार वार कर दिए। जिससे वह व्यक्ति मुंह के बल गिर पड़ा।

वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपी परप्रांतिय राहगिर को रक्त रंजित अवस्था में छोड़कर फरार हो गए।

टीचर कार पार्क करने पहुंचा तो देखा नजारा
विवेक मंदिर स्कूल का एक टीचर कार से विद्यालय पहुंचा तो उसने देखा स्कूल के पीछे के गेट (शटर) के पास एक व्यक्ती मूर्छित अवस्था में औंधे मुंह गिरा पड़ा हुआ है, शुुरुवात में टीचर को लगा कोई नशेड़ी होगा ? जब वे कार पार्क कर उस व्यक्ती के करीब गए तो देखा वह खून से लथपथ है तथा उसकी सांसे जोर-जोर से तेज गति से चल रही है, टीचर ने स्कूल के स्टॉफ को आवाज दी, गंभीर अवस्था में जख्मी पड़े व्यक्ती के उपचार हेतु जिला केटीएस अस्पताल के 108 आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा को जानकारी दी गई और शहर पुलिस को भी मामले से अवगत कराया गया।
पुलिस घटनास्थल पर देर से पहुंची तब तक एम्बुलेंस लेकर आए स्वास्थ कर्मचारी जख्मी पड़े व्यक्ती को अस्पताल ले जा चुके थे तथा उसे आयसीयुु वार्ड में भर्ती किया गया। रात 8 बजे तक उस परप्रांतिय अज्ञात जख्मी की स्थिती चिंताजनक बनी हुई थी, डॉक्टरों ने पुलिस को नागपुर रैफर किए जाने की सलाह दी।

स्कूल ने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज सौंपे
लूटपाट की वारदात में असफल हुए दो हमलावरों की धरपकड़ हेतु स्कूल प्रशासन ने पुलिस की मदद करते उन्हें सीसीटीवी फुटेज सौपे है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार खुफिया कैमरे में कैद दोनों अपराधीयों की शिनाख्त हेतु पुलिस ने कुछ वाहन चलानेवाले ड्रायवरों की मदद ली। उन्ही में से एक ड्रायवर ने हमें जानकारी देते बताया, सीसीटीवी कैमरें के फुटेज में दिख रहा एक बदमाश माल वाहक गाड़ी चलाता है तथा दुसरा बदमाश रिक्शेवाला है, जो की संजयनगर इलाके का निवासी हो सकता है। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा परप्रांतिय राहगिर यह मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले के किसी तहसील का निवासी बताया जाता है, पुलिस उसके परिवार तक अपनी पहुंच बनाने का प्रयास कर रही है।

पुलिस की थ्योरी: अज्ञात.. अज्ञात.. अज्ञात..
वारदात के 36 घंटे बाद भी सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बावजूद पुलिस के हाथ खाली की खाली हैं । पुलिस को ना जख्मी के नाम का पता है और ना ही दो हमलावर बदमाशों का? लिहाजा पुुलिस रिपोर्ट की थ्योरी अज्ञात.. अज्ञात.. अज्ञात.. पर टिकी हुई है।

इस प्रकरण के संदर्भ में पुलिस ने फर्यादी मुजीब बेग (रा. जोगलेकर वार्ड गोविंदपुर) के शिकायत पर 2 अज्ञात हमलावरों के खिलाफ धारा 307, 34 हत्या के प्रयास का जुर्म दर्ज किया है, मामले की जांच में पुलिस जुटी है।

रवि आर्य