Published On : Thu, Apr 22nd, 2021

गोंदिया: उप जिला अस्पताल तिरोड़ा में 5 वेंटीलेटर शो-पीस पड़े हैं

तिरोड़ा में मरीज उपचार को तरस रहे और उन्हें गोंदिया रेफर किया जा रहा ?

गोंदिया गंभीर अवस्था में भर्ती संक्रमित मरीज को वेंटीलेटर की आवश्यकता होती है तिरोड़ा के उप जिला अस्पताल में वेंटिलेटर की उपलब्धता नहीं है यह कहते हुए पिछले 7-8 माह से गंभीर कोरोना मरीजों को उपचार हेतु जिला केटीएस और गोंदिया मेडिकल कॉलेज अस्पताल हेतु रेफ़र किया जा रहा है जबकि सच्चाई यह है कि तिरोड़ा के उप जिला अस्पताल के मेडिसिन स्टोर रूम में 5 नए वेंटिलेटर बक्सों में ही बंद रखे पड़े हैं जो भारत इलेक्ट्रॉनिक , बेंगलुरु द्वारा अगस्त 2020 मैं भेजे गए थे जो शो-पीस की तरह शोभा की वस्तु बने हुए हैं और संबंधित संसाधन बेकार साबित हो रहा है।

Advertisement

वेंटीलेटर चलाने के लिए प्रशिक्षित चिकित्सक विशेषज्ञ मौजूद होने के बावजूद तिरोड़ा उप जिला अस्पताल प्रशासन ने अपना दायित्व इन 5 वेंटिलेटर के इंस्टॉलेशन के प्रति नहीं निभाया जिस से संक्रमित मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति गंभीर होती जा रही है इस बात की जानकारी मिलने के बाद गोंदिया शिवसेना जिला समन्वयक पंकज यादव के मार्गदर्शन में नगरसेवक लोकेश कल्लू यादव और उनके शिवसैनिक कार्यकर्त्ताओं ने 20 अप्रैल मंगलवार शाम तिरोड़ा उप जिला अस्पताल के औचक निरीक्षण हेतु पहुंचे।

Advertisement

जब वहां के डीन हिम्मत मेश्राम से इस बाबत पूछा गया कि 1 वर्ष पूर्व जब लाखों रुपए खर्च कर कोरोना मरीजों हेतु सरकार के निर्देश पर वेंटीलेटर युक्त बेड की स्थापना की जानी थी तो आखिरकार इन 5 वेंटिलेटर का अब तक इंस्टॉलेशन क्यों नहीं किया गया है ?

यह शोभा की वस्तु बनकर बक्सों में ही क्यों पैक रखे गए हैं ? जब के तिरोड़ा में गंभीर अवस्था के मरीजों की दशा खराब हो रही है और उन्हें तिरोड़ा से उपचार के लिए गोंदिया जिला अस्पताल के लिए रेफर किया जा रहा है और संबंधित संसाधन बेकार साबित हो रहे हैं।

जिस पर मेन पावर ( प्रशिक्षित चिकित्सक व नर्स ) के अभाव की दुहाई देते डीन मेश्राम बगले झांकते नजर आए और उन्होंने नगरसेवक लोकेश कल्लू यादव को 4 माह पूर्व गोंदिया के तत्कालीन जिला शल्य चिकित्सक भूषण रामटेके को जनवरी 2021 में लिखा गया वह पत्र दिखाया जिसमें इस संदर्भ में लिखा गया है कि तिरोड़ा में लगता नहीं कि इन 5 वेंटीलेटर्स की आवश्यकता महसूस होगी ? लिहाज़ा इन 5 वेंटिलेटर का इस्तेमाल गोंदिया जिला केटीएस अस्पताल हेतु करें ? लेकिन कोई जवाब नहीं आया इसलिए रखे पड़े हैं।

समस्या के समाधान हेतु नगरसेवक लोकेश कल्लू यादव ने गोंदिया मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. नरेश तिरपुड़े से चर्चा की जिस पर उन्होंने कलेक्टर को मामले से अवगत कराया।

बताया जाता है कि अब जिलाधीश कार्यालय की ओर से आदेश जारी किए गए हैं कि इन 5 वेंटीलेटर्स का इस्तेमाल तिरोड़ा के उप जिला अस्पताल हेतु किया जाएगा।

देखना दिलचस्प होगा इन शो-पीस बने रखे गए 5 वेंटिलेटर का इंस्टॉलेशन कब होता है ? और कब गंभीर मरीजों को तिरोड़ा में ही योग्य उपचार की सुविधा प्राप्त होती है ।

रवि आर्य

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement