Published On : Fri, Aug 18th, 2017

गोवा के चर्च ने कहा- भाजपा का शासन नाजियों की तरह, इससे अच्छी भ्रष्टाचारी सरकार

गोवा के एक चर्च ने अपनी मैगजीन में देश और राज्य में मौजूद भाजपा सरकार को नाजियों के समान बताया। इसके साथ ही मैगजीन में कहा गया है कि वर्तमान सरकार से अच्छी तो देश में भ्रष्टाचारी सरकार है, जो लोगों को उनकी इच्छा के अनुरुप जीने तो देती है।

गोवा के सबसे बड़े चर्च की मैगजीन में छपे इस लेख में कहा गया है देश के अंदर इस वक्त संवैधानिक प्रलय की स्थिति बन गई है। इस मैगजीन में गोवा के वोटर्स से अपील की गई है कि वो सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ वोट दें ताकि फासिस्टवादी ताकतों को देश में बढ़ने से रोका जा सके।

पणजी में रहने वाले वकील डॉ, एफई नोरोनहा द्वारा लिखित यह आर्टिकल रेनोवाकाओ मैगजीन में पब्लिश हुआ है। इस मैगजीन को गोवा और दमन के ऑर्कबिशप छापते हैं।

पर्रिकर पर साधा निशाना

मैगजीन ने गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर भी निशाना साधा है। मैगजीन में कहा गया है कि वो ऐसे लोगों को कतई वोट न दें जो राज्य के हित में फैसले नहीं ले सकते हैं और राष्ट्रवादी फासिस्ट ताकतों को बढ़ावा दे रहे हैं।

2012 में हर किसी ने करप्शन मुक्त गोवा के बारे में सोचा था और यह 2014 तक चला था। लेकिन अब इस वक्त भारत में जो कुछ हो रहा है वो काफी खराब है। भ्रष्टाचार गंदा होता है, सांप्रदायिक खराब है लेकिन फासिस्ट होना इन दोनों से भी बदतर है।

मैगजीन में कहा गया है कि ऐसे माहौल में देश में भ्रष्टाचारी सरकार होना ज्यादा अच्छा है, क्योंकि यह नाजियों से तो बचाएगा। व्यक्ति की स्वतंत्रता, डेमोक्रेसी और सेक्युलर होना भष्टाचार से ज्यादा अच्छा है, लेकिन देश में जो माहौल चल रहा है, उससे भ्रष्टाचारी सरकार होना ज्यादा सही है, क्योंकि यह लोगों को बोलने, खाने-पीने और जीने की आजादी तो देता है।