Published On : Mon, Oct 16th, 2017

रेड के दौरान जप्त पैसे पुलिस ने किये गायब

gambling

Representational Pic

नागपुर: शहर के गिट्टीखदान इलाके में शुरू जुआ अड्डा में छापे के दौरान जप्त हुई रकम के हेरफ़ेर मामले की विभागीय जाँच कराने की बात जॉइंट सीपी शिवजी बोड़खे ने कही है। जॉइंट सीपी के अनुसार जो मामला सामने आया है वह गंभीर है इसकी पूरी जाँच कराई जाएगी और जो भी दोषी पाया जाता है उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब हो की जुआ के अड्डा में की गई इस कार्रवाई के बाद पुलिस महकमें के लोगो पर ही बरामद रकम में लाखों की हेरफेर किये जाने का संगीन आरोप लगा है। इतना ही नहीं इसी मामले में पुलिस द्वारा पकड़े गए युवक से पुलिस की प्रेस नोट में नाम न जाहिर करने के एवज में युवक से लगभग 3 लाख रूपए वसूलने का भी आरोप लगा है। जिस युवक को पुलिस ने आरोपी बनाया है उसने खुद को बेकसूर बताते हुए महज घटनस्थल पर मौजूदगी की वजह से उसे जबरन गिरफ्तार करने का आरोप पुलिस पर लगाया है। सोमवार को युवक मोनू सिद्दीकी ने मीडिया के कैमरे के सामने पुलिस उपनिरीक्षक संतोष वाकड़े और अन्य पुलिस कर्मियों पर संगीन आरोप लगाए।

जुआ खेले जाने की गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई
पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी की महेश नगर में मोनू नामक व्यक्ति के मकान के सामने खुले मैदान में जुआ खेल रहे हैं। लिहाजा पुलिस ने जाल बिछाकर रेड मारी और आरोपियों को गिरफ्तार कर थाने लाया गया। रेड के दौरान आरोपियों से 8380 रुपए की नकदी और ताश के पत्ते भी जब्त किए गए। गिरफ्तार आरोपियाें में मोनू सिद्दीकी महेश नगर निवासी, मोहम्मद असलम मोहम्मद अकरम दिघोरी, इरफान खान रफीक खान पेंशन नगर, जहिर खान जम्मू खान मोमिनपुरा, मिलिंद श्यामलाल राय गांधीबाग, मनोज दीपक छाबरिया, सैयद अलीउद्दीन भालदारपुरा, कपिल रमेश मोटवानी, मोहम्मद इरफान मोहम्मद इस्माइल भालदारपुरा, वाजीद अंसारी मोमिनपुरा, मलिंदर बावरी कमाल चौक, पवन परमानंद मोटवानी कमाल चौक, नवाब अशरफी, तारीक खान गांधीगेट, अंकित वाघाडे महल आदि का समावेश है।