Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sun, Apr 11th, 2021

    नागपुर शहर के इमामवाडा पुलिस स्टेशन को जानिये

    नागपुर टुडे : भाग 10 इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन

    नागपुर टुडे – शहर के इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन की स्थापना 7 नवंबर 1993 को की गई थी. इसे सक्करदरा, गणेशपेठ और अजनी पुलिस थाने के कुछ इलाकों को जोड़कर तैयार किया गया था । आज इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन मे कुल 74 महिला व पुरुष पुलीसकर्मियो का स्टाफ तैनात है, जिसमें 10 पुलिस अधिकारीगण शामिल है. वर्तमान में इस पुलिस स्टेशन के थानेदार वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक मुकुंदा माधव सालुंके हैं.श्री. सालुंके 2004 पीएसआई बैच के अधिकारी हैं । पुलिस विभाग में स्वभाव से बेहद नम्र और कानून का कड़ाई से पालन करनेवाले पुलिस अधिकारी के रूप में उनकी ख्याति है ।

    इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन के क्षेत्र में आवले चौक से सरदार पटेल चौक (पुर्व से पश्चिम ) और बैद्यनाथ चौक से अजनी रेलवे ब्रिज(उत्तर से दक्षिण) इलाका यानी करीब 4 लाख की घनी आबादीवाला इलाका इसमे शामिल है ।

    पीआई मुकुंदा सालुंके

    इस पुलिस थाने की हद में तीन बीट्स आते हैं जिसमें चंदननगर बीट , इस बीट की कमान बिट मार्शल धर्मेंद्र नितनवरे को दी गई है , दुसरी रामबाग बीट है इस बीट की कमान बिट मार्शल आतिश निकोसे को दी गई और तिसरी सबसे महत्वपूर्ण बीट यानी जाटतरोड़ी बीट है इस बीट की कमान विजय पंचभाई को सौपी गई है । इन तीनो बिट्स में रामबाग, कल्पा बस्ती ,इमामवाड़ा,जाटतरोड़ी 1,2,3, इंदिरा नगर झोपड़पट्टी और बारा सिंघल चौक इनके अधिकार क्षेत्र में आते हैं. इलाके के सबसे पॉश ट्रिलियम मॉल और टाटा कैपिटल हाईट्स अपार्टमेंट के साथ पुलिस इमामवाड़ा और जाटतरोड़ी परिसर के संपूर्ण इलाके में भी अपनी पैनी नजर रखती है ।

    रामबाग परिसर के बिट मार्शल नायक पुलिस कांस्टेबल ( Npc) आतिश निकोसे

    नागपुर टुडे से बातचीत के दौरान पीआई मुकुंदा सालुंके बताते हैं कि इमामवाड़ा पुलिस सभी नागरिकों हेतु कई तरह की सामाजिक उपक्रमों की पहल करती आई है जिससे पुलिस और आम नागरिक के बीच भाईचारा और सामनजस्य हमेशा बना रहे । परिसर के संवेदनशील इलाकों में प्रतिदिन नाकाबंदी की जाती है । श्री. सालुंखे ने अपना मोबाइल नंबर 9284819982 भी जनता के साथ शेयर कर रखा हैं ताकि आमजनता अपने दुख तकलीफ उनसे साझा कर सके ।

    रोल कॉल फ़ोटो

    इमामबाडा क्षेत्र के हिस्ट्रीशीटर तथा असामाजिक और आपराधिक तत्वों पर नजर रखने के लिए उनकी एक सूची पीआई सालुंके ने तैयार की है और उसके माध्यम से उन पर लगातार कड़ी निगाह रखी जाती है. इमामवाड़ा पुलिस की ओर से बीते 2 सालों में 8 कुख्यात अपराधियो पर MPDA की कारवाई कर उन्हें जेल भेजा गया है साथ ही 9 शातिर बदमाशों को शहर से तड़ीपार ( स्थानबद्ध ) भी किया गया है ।

    Pi & डीबी टीम इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन

    स्थानीय लोगों से संवाद
    परिसर में रहनेवाले सभी वरिष्ठ नागरिकों,स्थानीय नगरसेवकों, व्यवसाइयों और नागरिकों के बीच संवाद साधने के लिए इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन की ओर से आएदिन मोहल्ला मीटिंग्स, शांतता मीटिंग्स, और महिला दक्षता मीटिंग्स और समय-समय पर वरिष्ठ नागरिकों के साथ बैठकें भी ली जाती हैं. इस इलाके में अधिकांश गरीब और मजदुर वर्ग के लोगो की काफी संख्या होने से मामुली से मामूली बातों को लेकर होनेवाले विवादों को सुलझाने में काफी सतर्कता बरतकर इमामवाड़ा पुलिस इसमे महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती आई है । पुलिस स्टेशन के अधीनस्थ सभी अधिकारियों तथा कर्मचारियों को खास हिदायतें दी गई हैं कि मजदूर वर्ग के इलाकों पर खास ध्यान दें. पीआई सालुंके बताते हैं कि इलाके में रात की गश्त के साथ साथ पुलीसकर्मियो की पैदल गश्त भी लगाई जाती है ताकि सभी संवेदनशील इलाको की आपराधिक गतिविधियों पर नजर रखी जा सके. इस पहल से अपराधों पर नियंत्रण समय से पहले पाने में बहुत मदद मिलती है ।

    चंदननगर परिसर के बिट मार्शल नायक पुलिस कांस्टेबल धर्मेंद्र नितनवरे

    श्रमिकों को पुलिस से न हो परेशानी इसका खास ख्याल रखा जाता है : पीआई सालुंखे
    राज्य सरकार पुलिस को मासिक वेतन व्यापारियों और उद्योगपतियों से मिलनेवाले टैक्स के आधार पर देती है. और ये बिजनेसमैन क्लास वर्ग अपना मकाम केवल लेबर क्लास वर्ग यानी मजदूरों की मेहमत के दम पर पाते हैं. इसलिए पूछताछ के दौरान पुलिस कर्मियों को ये खास हिदायतें दी गई हैं कि वे गरीब मजदूरवर्ग को कभी परेशान न करे , उनकी परेशानी समझकर उन मामलों को जल्द से जल्द सुलझाए जाए ।

    इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन मैप

    श्रमिक वर्ग से संतानों को पढ़ाने की अपील
    पीआई सालुंके बताते हैं कि उनके पुलिस थाने के इलाके में बड़ी संख्या में गरीब मजदूर वर्ग रहता है. वे दिन भर अपने दो समय की रोटी के जुगाड़ के लिए घर से बाहर रहते हैं. ऐसे में इन गरीब मजदूरों को अपने बच्चों को बढ़ाने के लिए नाना-प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है । इसी बात को ध्यान में रखकर पुलिस निरीक्षक सालुंके इन मेहनतकश परिवारों से अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए हमेशा प्रेरित करते रहते हैं. ऐसा न करने पर उन बच्चों का अपराध की दुनिया की ओर मुड़ने का सबसे ज्यादा खतरा बना रहता है, इस बात की ओर भी उनका ध्यान खींचते हैं ।

    जाटतरोड़ी परिसर के बिट मार्शल हेडकॉन्स्टेबल विजय पंचभाई

    नागपुर शहर के नागरिकों को अपने एरिया के पुलिस स्टेशन के बारे में जानकारी हो, इस उद्देश्य को ध्यान में रखकर ‘ नागपुर टुडे ‘ ने एक विशेष सीरीज शुरू की है, जिसका नाम – अपने पुलिस स्टेशन को जानिये ‘ है. इसमें पुलिस स्टेशन से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी आम जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया गया. पुलिस स्टेशन की स्टोरी में आप अपने क्षेत्र के संबंधित पुलिस स्टेशनों के पुलिस इंस्पेक्टर, किसी भी आपात स्थिति के दौरान उनसे संपर्क करने के साधन, क्षेत्र में होनेवाली आगामी योजनाओ के बारे में जानकारी पहुंचाने की कोशिश ‘ नागपुर टुडे ‘ की ओर से की जा रही है.

    – रविकांत कांबले


    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145