Published On : Sat, Feb 16th, 2019

आम चुनाव को रोक, पाक पर हमला करने की उठी मांग

देशभक्तों की केंद्र सरकार से मांग

नागपुर: कल शाम संविधान चौक पर देशभक्तों के हुजूम ने जमा होकर केंद्र सरकार से मांग की है कि १४ फरवरी को पुलवामा में आतंकी हमले में शहीदों का बदला लेने के लिए आगामी लोकसभा चुनाव एक वर्ष के लिए टाल दी जाए और इस दौरान पाकिस्तान को ठोकने ( पर हमला ) की मांग भी की. इस अवसर पर पाकिस्तान का झंडा और एक अंग्रेजी अख़बार का अंक जलाकर जमा देशभक्तों ने तीव्र निषेध करने के साथ ही साथ शहीद ४० जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई.

इस अवसर पर सांसद विकास महात्मे,विधायक मिलिंद माने,विधायक सुधाकर कोहले,विधायक अनिल सोले,आरएसएस के श्रीधर गाडगे,डॉक्टर दिलीप गुप्ता,रजवंतपाल सिंह तुली,महापौर नंदा जिचकर,उपमहापौर दीपराज पार्डीकर,महामण्डल अध्यक्ष संदीप जोशी, स्थाई समिति सभापति विक्की कुकरेजा,विधि समिति सभापति धर्मपाल मेश्राम ,वरिष्ठ नगरसेवक दयाशंकर तिवारी आदि विशेष रूप से उपस्थित थे.

तिवारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि कश्मीर में पिछले वर्ष बाढ़ आई थी. सम्पूर्ण कश्मीर जलमग्न हो गया था. ऐसी सूरत में सैनिकों ने वहां के नागरिकों को अपनी जान जोखिम में डाल कर बचाया था. इसके साथ ही उन्हें अन्न-जीवनावश्यक वस्तु उपलब्ध करवाकर कठिन परिस्थितियों में सहारा दिया था. धीरे-धीरे कश्मीर पटरी पर आने लगा और पर्यटन क्षेत्रों में आवाजाही बढ़ी. कश्मीर में पर्यटन क्षेत्रों से स्थानीय नागरिकों के लिए रोजगार का निर्माण हुआ. इसी से कश्मीर वासी आर्थिक रूप से सबल हो रहे हैं. ऐसे में मददगार जवानों पर हमले का जितना निषेध किया जाए उतना कम होगा. कश्मीर की सुख-शांति भंग करने वालों और जवानों पर लज्जास्पद आरोप लगाने वालों का निषेध किया गया.

उक्त आतंकी हमले पर निर्लज्ज देशद्रोही राजनीत करेंगे,इसलिए केंद्र सरकार आगामी लोकसभा चुनाव एक वर्ष के लिए टाल दें और पहले पाकिस्तान पर हमला करे. उक्त निषेध सभा का संचालन शिवानी वखरे ने किया. निषेध सभा में अरविन्द कुकड़े,रविंद्र बोकरे,मोहन अग्निहोत्री,अतुल मोघे,शंकरराव वानखेड़े,अविनाश आंवले आदि भी उपस्थित थे.