Published On : Fri, Apr 20th, 2018

टेकड़ी पुलिया ढहाने संबंधी विषय स्थगित

Tekdi Flyover

नागपुर: नागपुर महानगरपालिका की अप्रैल माह की आमसभा में काफी महत्वपूर्ण विषयों का समावेश किया गया. इसमें रेलवे स्टेशन के पश्चिमी द्वारा व गणेश टेकड़ी मंदिर के मध्य की पुलिया ढहाने के प्रस्ताव को विपक्ष के नगरसेवकों की सतर्कता के कारण अगली आमसभा तक के लिए टाल दिया गया. प्रशासन व सत्तापक्ष बड़ी चतुराई से उक्त विषय को बिना सविस्तार आमसभा में चर्चा किए बगैर बहुमत के आधार पर मंजूरी दिलवाने के फ़िराक में था. विषय पत्रिका पर चर्चा करते हुए मनपा में कार्यकारी अभियंता (स्थापत्य) के रिक्त पद पर उपविभागीय अभियंता प्रदीप राजगिरे को विपक्ष नेता तानाजी वनवे की सूचना के साथ पदोन्नत किया गया.

मनपा में रिक्त उपअभियंता (स्थापत्य) पद पर कनिष्ठ अभियंता व उपअभियंताओं को पदोन्नत विषय को नगरसेवक सुनील अग्रवाल की सूचना सह मंजूरी प्रदान की गई. इनमें कनिष्ठ अभियंता अनिल गेडाम, सहायक अभियंता एन. शिंगनजोड़े, शाखा अभियंता वी. वी. कहालकर, शाखा अभियंता मोहम्मद शफीक, शाखा अभियंता डी.एस. बिसेन, शाखा अभियंता जे.एस.उमालकर का समावेश है.

पूर्व सांसद अविनाश पांडे की सांसद निधि से मनपा को दी गई दो शववाहिका सालभर से कारखाना विभाग में खड़ी थी. नागपुर टुडे ने इस ओर प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराया था. प्रशासन ने इन दोनों शववाहिकाओं को मुक्ति श्रद्धांजलि कल्याणकारी सेवा संस्था को देने का प्रस्ताव लाया था. इस विषय को विपक्षी नगरसेवकों के विरोध पर सत्तापक्ष नेता ने जानकारी दी कि २-२ शववाहिका नितिन गडकरी व सांसद विकास महात्मे की ओर से जल्द ही मनपा को मिलेगी. शेष ४ अन्य शववाहिकाएं स्थाई समिति के बजट से खरीदी कर सभी जोन में एक-एक वाहिका दी जाएगी. जिसका संचालन खुद मनपा करेगी. जिसके देखभाल के लिए प्रत्येक मांगकर्ता से ३००-३०० रूपए लिए जाएंगे.

शासन निर्देश पर भांडेवाडी के एसटीपी में आसपास के नगरपरिषद आदि जहां एसटीपी नहीं है वहां की गंदगी को डीसिल्टिंग व ट्रांसपोर्ट कर प्रक्रिया करने के प्रस्ताव पर शुल्क लेने के मामले को मंजूरी दी गई. नागपुर शहर में चल रहे और प्रस्तावित नए-नए प्रकल्पों के लिए विभिन्न देशों में उपयोग में लाई जा रहीं नई-नई तकनीक के सहयोग के लिए उनके साथ मनपा का सामंजस्य करार करने के मामले के प्रस्ताव को मंजूरी सर्वसहमती से दी गई.

लाड पागे समिति की शिफारिश के अनुसार सफाई कामगारों के वारिसों में से १८ लाभार्थियों को उम्र ज्यादा होने के कारण नौकरी में समाहित नहीं किया गया. इस मामले को अधिवक्ता धर्मपाल मेश्राम, प्रफ्फुल गुडधे पाटिल व दयाशंकर तिवारी की सुचना के साथ मंजूरी प्रदान की गई. ज़ीरो माइल के पीछे मनपा की जगह ( तिकोना आकार का ) मेट्रो रेल प्रबंधन को ‘हेरिटेज वॉक’ के लिए देने का निर्णय विपक्ष के विरोध के बाद सत्तापक्ष ने बहुमत के आधार पर मंजूरी प्रदान की. धंतोली ज़ोन अंतर्गत प्रभाग १७ के दलित वाचनालय के समीप और महात्मा गांधी कुंए के नजदीक सार्वजानिक शौचालय तोड़ने के प्रस्ताव को सकारात्मक सहमति दी गई.

शांति नगर स्थित मनपा शाला की इमारत शांतिनगर पुलिस थाने को ११-११ माह के करार पर ९७१९५ रूपए मासिक किराए पर देने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई. चूंकि शांतिनगर पुलिस थाना का निर्माण हो चुका है इसलिए यह अंतिम वर्ष है.

मौजा वडपाखड अंतर्गत मनपा की ६२८९।९० वर्ग मीटर जगह मेट्रो को सशर्त देने के विषय को मंजूरी देने के प्रस्ताव पर विपक्ष नेता झल्ला गए और उन्होंने कहा कि एक प्रस्ताव लेकर मनपा की सम्पूर्ण जगह मेट्रो को दे दी जाए. इस सम्बन्ध में मनपायुक्त ने जानकारी दी कि मनपा को मेट्रो रेल के लिए ७३ करोड़ रूपए देने शेष हैं. उनकी मांग के अनुसार जगह देने से आर्थिक बोझ कम हो जाएगा.

मेट्रो रेल के लिए सेंट्रल एवेन्यू स्थित खोवा बाजार से लेकर कॉटन मार्केट तक बायीं ओर की जगह देने के प्रस्ताव को सहर्ष मंजूरी दी गई. जगह खाली कराने के एवज में स्थानीय व्यवसायियों को प्रस्तावित संकुल में समाहित किया जाएगा.

यूरोपियन यूनियन व यूएन हैबिटाट के संयुक्त तत्वाधान से भारत, बांग्लादेश, लैटिन अमेरिका, साउथ ईस्ट एशिया, अफ्रीका आदि देशों का मौसम बदलने से होने वाले दुष्परिणामों को टालने के लिए कुछ देशों का अध्ययन दौरा करने के लिए आवश्यक निधि के प्रावधान करने के लिए प्रस्ताव पर मुहर लगाई गई है.

वर्ष १९९३ में १६१ पदों के लिए भर्ती की गई थी, इसमें से १७ कर्मियों की पुनर्नियुक्ति के मामले पर आमसभा में अहम निर्णय लिया गया. इसमें पूर्व नागपुर के भाजपा विधायक कृष्णा खोपड़े के ४ रिश्तेदार लाभार्थी हैं. उक्त लाभार्थियों ने गत माह भाजपा के विदर्भ ओबीसी अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री निवास रामगिरि के समक्ष आत्मदाह करने की कोशिश की. बाद में उक्त ओबीसी अध्यक्ष सुभाष घाटे को पदमुक्त कर दिया गया.