Published On : Wed, Nov 26th, 2014

यवतमाल : एक नाबालिग पर 8 का गैंगरेप

 

  • अमरावती, यवतमाल में बिअर पिलाकर किया मुंह काला

यवतमाल। एक 16 वर्षीय नाबालिग पर 8 लोगों ने बारी-बारी गैंगरेप अमरावती और यवतमाल में किया. इतना ही तो इस पीडि़ता को बिअर और शराब पिलाकर नशे की हालत में इस घटना को अंजाम दिया गया. इसके लिए उसे धमकाकर मजबूर किया गया. वॉट्सअप या फेसबुक पर क्लिपिंग ड़ालने की बात बताकर यह सब किया गया. 8 आरोपी में से 4 पकड़े गए उसमें से 3 अमरावती से हिरासत में लिए गए है. बाकी 4 आरोपी फरार है. पकड़े गए आरोपियों में पंकज गवई (25), वैभव कलसकर, किशोर शेंदूरकर और विशाल देशमुख का समावेश है तो फरार आरोपियों में धिरज गायकवाड़, अंकुश वानखेड़े, मंगेश कुंभार और नितीन शेंडे का समावेश है. इस घटना के अधिकांश आरोपी अमरावती के निवासी है.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पीडि़ता यह अमरावती तहसील के बोरगाव (धर्माले) निवासी है. वह रहाटगाव से अमरावती पढऩे के लिए जाती थी. इसी गाव से पंकज गवई (25) रहाटगाव निवासी भी अमरावती जाता था.  दोनों छात्र होने के कारण एक-दूसरे से पहचान हुई. बाद में प्रेम हुआ और इसका लाभ पंकज ने उठाया. उसने उसके परीचीतों से 1 हजार, 2 हजार रुपए लेकर इस पीडि़ता को उनके पास शारीरिक शोषण के लिए भेजना शुरू कर दिया. नहीं गई तो जो क्लिपिंग उसके पास है, उसे वॉट्सअप और फेसबुक पर ड़ालकर बदनामी करने की धमकी दी थी. मजबूरीवश इस नाबालिग को बिअर पिला-पिलाकर बलात्कार किया जाता था. अमरावती के देशमुख लॉन, राठी नगर और नांदगावपेठ नागपुर हाईवे आदि स्थानों पर ले जाकर 21 और 22 नवंबर को बलात्कार किया गया. 24 नवंबर को आर्णी बायपास के बंदरबाबा स्थान पर ले जाकर बलात्कार किया गया. नांदगावपेठ निवासी मंगेश कुंभार और नितीन शेंडे फिलहाल यवतमाल में काम कर रहें थे. उन्होंने भी इस पीडि़ता के साथ यवतमाल में बारी-बारी से मुंह काला किया.

24 की मध्यरात्रि को वह यवतमाल बस स्टैंड पर आयी, उस समय भी उसे बिअर पिलाकर लाया गया था. वह बस स्टैंड पर हलटिंग के लिए खड़ी अमरावती बस का खोलकर उस बस की सीट जाकर सो गई. यह बात एसटी के एक कर्मचारी देख ली. उसने इस लड़की को क्यों यहां सो रही हों? ऐसा सवाल पूछा जिसके बाद उस लड़की ने जो बात बताई उससे उसके रोंगटे खड़े हो गए. उसने यह बात ड्यूटी पर तैनात बस स्टैंड चौकी के पुलिस कर्मियों को बताई. जिससे पुलिस कर्मियों ने उसे थाने में लाकर पूछताछ की. उसने बताया कि, पंकज गवई, वैभव कलसकर, किशोर शिंदूरकर, विशाल देशमुख, इन सभी ने बारी-बारी से अमरावती के कई स्थानों पर उसके साथ बार-बार मुंह काला किया. यह सभी 20 से 25 उम्रगुट के थे. इस मामले में यवतमाल में बलात्कार करनेवाले मंगेश कुंभार, नितिन शेंडे, अंकुश वानखेड़े, धिरज गायकवाड़ शामिल है. घटना की जानकारी उन्हें लगते ही वे चारों फरार हो गए है. यवतमाल के वडगाव रोड़ पुलिस थाने में इन सभी के खिलाफ भादंवि की धारा 376 ड और बाल लैंगिक प्रतिबंधक कानून के तहत गुनाह दर्ज किया गया है.

Gang rape

Representational Pic