Published On : Wed, Feb 10th, 2021

गांधी, भंडारी की पुलक मंच परिवार को सदिच्छा भेट

नागपुर : देश के सबसे बड़े सशक्त और सक्रिय ऑल इंडिया जैन माइनॉरिटी फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललित गांधी कोल्हापुर और फेडरेशन के राष्ट्रीय महामंत्री, राज्य भाजपा अल्पसंख्यांक मोर्चा जैन समाज के प्रदेश प्रमुख संदीप भंडारी पुणे ने मंगलवार को महावीरनगर स्थित पुलक मंच परिवार के कार्यालय को सदिच्छा भेट दी उनके साथ विनय आकुलवार भी उपस्थित थे.

पुलक मंच परिवार के कार्यालय में हुए समारोह में फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललित गांधी, राष्ट्रीय महामंत्री संदीप भंडारी, विनय आकुलवार, राष्ट्रीय जैन महिला जागृति मंच की राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ. रिचा जैन, शाखा अध्यक्ष शरद मचाले उपस्थित थे. ललित गांधी, संदीप भंडारी, विनय आकुलवार का शाल, धर्म दुपट्टा, मोती की माला से समाज विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने सत्कार किया और पुलक मंच परिवार के कार्यों का विवरण पत्र दिया.

हर्षद महात्मे ने आर्थिक आधार पर मिलनेवाले प्रमाणपत्र और अन्य प्रमाणपत्रों की कैसे मिलते उसकी जानकारी सभा में दी. राष्ट्रीय अध्यक्ष ललित गांधी ने मार्गदर्शन में कहा आजकल देखा जा रहा हैं समाज के विवाद न्यायालय में पहुच रहे हैं और इसी विवादों में समाज का धन व्यर्थ हो रहा हैं आज हमें इस विषय मे सोचने की जरूरत हैं. संतों के धर्मोपदेश को जीवन में उतारने की आवश्यकता हैं. केंद्र के अल्पसंख्यांक विभाग के मंत्री चाहे किसी भी पार्टी के हो वह जैन समाज के कोई भी काम श्रद्धा से करते हैं. संत, महात्मा की पुण्याई हम खत्म कर रहे हैं. उच्च शिक्षा तक छात्र वृत्ति योजना, केंद्र और राज्य सरकार महिलाओं और युवकों के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण योजना, युवाओं के व्यापार के लिए कर्ज अनुदान की योजना की जानकारी, प्राचीन जैन मंदिरों के जीर्णोद्धार के लिए और जैन ग्रंथों के पुनर्लेखन के लिए योजना की जानकारी, महाराष्ट्र के मांगीतुंगी के लिए सरकार 100 करोड़ सरकार द्वारा देने की जानकारी श्री गांधी ने दी. भारत सरकार द्वारा 2014 में जैन समाज को अल्पसंख्यांक का दर्जा दिया गया. उस समय केंद्रीय राज्यमंत्री प्रदीप जैन ‘आदित्य’ और आपके नागपुर के तत्कालीन राज्यसभा सांसद विजय दर्डा के प्रयासों से अल्पसंख्यांक दर्जा प्राप्त हुआ हैं.

राष्ट्रीय महामंत्री संदीप भंडारी ने कहा केंद्र सरकार ने खुले प्रवर्ग के लिए आर्थिक आधार पर 10 प्रतिशत आरक्षण लागू किया हैं. सालाना परिवार की आठ लाख रु. आय होना चाहिए. आधार कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड, आय का प्रमाणपत्र, एफिडेविड यह दस्तावेज EWS प्रमाणपत्र के लिए आवश्यक हैं. यह प्रमाणपत्र 8 से 15 दिन तक प्राप्त हो सकता हैं. 31 मार्च तक उस प्रमाणपत्र को रिन्यूवल करना जरूरी हैं. किसी भी क्षेत्र में प्रवेश EWS प्रमाणपत्र से मिल सकता हैं. बिना डोनेशन से स्कूल, कॉलेज में प्रवेश मिलता हैं. एडमिशन में 70% की छूट मिलती हैं. किसी सरकारी नौकरी में 10 प्रतिशत आरक्षण हैं. संगठन, पंथवाद छोड़ केवल ‘जैन’ के लिए काम करें. पढ़ो और कमाओ योजना की जानकारी श्री भंडारी ने दी.

कार्यक्रम का संयोजन और प्रास्ताविक करते हुए पुलक मंच परिवार के राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष मनोज बंड ने कहा पुलक मंच परिवार द्वारा फेडरेशन के माध्यम से एक मार्गदर्शन केंद्र हर्षद महात्मे के संयोजन में केंद्र महावीरनगर में खोला जायेगा. इस संगठन के माध्यम से अल्पसंख्यांक योजनाओं की जानकारी दी जायेगी. यह फेडरेशन अल्पसंख्यांको के हित में, उनके लिए कार्य करनेवाला देश का सबसे बड़ा संगठन हैं. इस संगठन के माध्यम से सही जानकारी समाज को मिलने में मदद होगी.

समारोह में दिलीप शिवणकर, महेन्द्रकुमार कटारिया, प्रकाश मारवडकर, सुभाष कोटेचा, दिलीप राखे, डॉ. नरेन्द्र भुसारी, विनय सावलकर, संजय टक्कमोरे, बाहुबली पलसापुरे, दिलीप सावलकर, अरविंद हनवंते, नरेश जैन, संदीप जैन, सुदीप जैन, कुलभूषण डहाले, प्रशांत भुसारी, राजेन्द्र सोनटक्के, प्रशांत सवाने, किशोर मेंढे, श्रीकांत धोपाडे, प्रमोद भागवतकर, अतुल महात्मे, जितेन्द्र गडेकर, प्रदीप तुपकर, सुरेश महात्मे, असलम खान, जुनेद भाई, राहुल महात्मे, नरेश मचाले, अनंतराव शिवणकर, निलय मुधोलकर, अविनाश शहाकार, राजेश जैन, किरण मसालकर, नीरज पलसापुरे, चिन्मय महाजन आदि उपस्थित थे.