Published On : Thu, Oct 25th, 2018

फुटाला तालाब के पास की 20 दुकानों का सफ़ाया

हाईकोर्ट के आदेश के बाद एनआयटी ने गुरुवार को की कार्रवाई

नागपुर मुंबई उच्च न्यायालय के आदेश के बाद फुटला तालाब के पास बने निर्माणकार्य को हटा दिया गया। गुरुवार को नागपुर सुधार प्रन्यास के तोडू दस्ते ने अधिकारी मनोहर पाटिल की निगरानी में कार्रवाई को अंजाम दिया। शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल में रूप में पहचाने जाने वाले फुटाला तालाब में ये दुकानें वर्षों से थी। जहाँ कुल 20 दुकानें थी जिनमे अधिकतर रेस्टोरेंट थे।

ये कार्रवाई लंबी अदालती लड़ाई के बाद हुई। एनआयटी द्वारा दुकानों को तोड़ने का नोटिस जारी होने के बाद दुकानदार हाईकोर्ट गए थे लेकिन वहाँ से इन्हे राहत नहीं मिली। अदालत ने दुकानों को तोड़ने के फैंसले को जायज ठहराया था। इस कार्रवाई के बाद तालाब के पूर्वी क्षेत्र में जगह ख़ाली हो जाएगी। अपनी दुकानें टूटने का ग़म दुकानदारों को है लेकिन उन्होंने शहर के विकास के लिए इस कार्य में सहयोग दिया।

पीते पांच सालों से इसी जगह रेस्टोरेंट का व्यापार करने वाले हीरेन पटेल के मुताबिक उन्होंने दुकान टूटने का दुःख तो है लेकिन अगर सरकार ने जगह वापस ली है तो इसके पीछे की वजह होगी। हीरेन के मुताबिक विकास होकर फिर से अगर उन्हें नई जग़ह उपलब्ध कराई जाती है तो ये उनके लिए ज़्यादा ख़ुशी की बात होगी। दुकानों को हटाने से पूर्व एनआयटी ने दुकानदारों को अपना सामान हटाने के लिए पूरा वक्त दिया था।