Published On : Sat, Nov 29th, 2014

तलोधी : विवाद मुक्त समिति चुनाव पर ही विवाद!

 

  • ग्राम विकास अधिकारी ने रोका परिणाम
  • विवाद मुक्त गांव समिति अध्यक्ष पद का चुनाव


तलोधी।
स्थानीय ग्राम पंचायत में महात्मा गांधी विवाद मुक्त गांव समिति के अध्यक्ष पद का चुनाव 25 नवम्बर को सुबह 9.30 बजे कराया गया. इसमें अशोक बंडीवार विजयी हुए, परंतु ऐन वक्त अवैध मतों के मद्देनजर सभा में आपत्ति दर्ज करते हुए चुनाव निर्णय अधिकारी व ग्राम विकास अध्यक्ष ने घोषित परिणाम को रोक दी. सचिव की इस करनी पर निंदा की जा रही है. नवनिर्वाचित अध्यक्ष बंडीवार द्वारा वरिष्ठों से की गई शिकायत के बाद सचिव पर कार्रवाई की जाती है अथवा नहीं, इसी पर सभी की नजरें टिक गई हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, प्रत्येक गांव विवाद मुक्त हो इसलिए पिछले कई वर्षों से गांव के विवाद महात्मा गांधी विवाद मुक्त समिति के माध्यम से सुलझाये जा रहे हैं. इसके लिए गांव के ही नागरिकों के बीच समिति का चुनाव किया गया. आवेदन वापस लेने के लिए 10 मिनट की अवधि दी गई. उसके लिए चुनाव में प्रमोद भैयाजी पाकमोड़े, जीवन प्रभाकर निकेसर व अशोक नारायण बंडीवार उम्मीदवार के रूप में खड़े थे. चुनाव के लिए हाथ उठाकर मतदान प्रक्रिया किया जाना था ग्राम सभा के अध्यक्ष ने गुप्त मतदान के लिए इजाजत दी. मतगणना के बाद बंडीवार को 257, पाकमोडे को 256 व निकेसर को 47 मत मिले. इसमें पांच मत अवैध होने की घोषणा की गई. बंडीवार को विजेता घोषित किया गया. यह देख तिलमिलाये प्रमोद पाकमोड़े ने अवैध मतों पर आक्षेप लेते ही दो गुटों में विवाद उठ गया और तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी. मामला बढ़ते देख सभाअध्यक्ष ने परिणाम घोषित न करते हुए इस पर रोक लगा दी. मगर जीत तो जीत है चाहे 1 मत से क्यों न हो, ऐसे कहकर घोषित परिणाम को यथावत रखने पर बंडवार ने दबाव बढ़ाया, परंतु उसकी एक न सुनी गयी. आखिरकार वंडीवार को नागभीड़ पुलिस व तहसीलदार को तत्संबंधी शिकायत दर्ज करानी पड़ी. सभा अध्यक्ष ने घोषित परिणाम को निरस्त करने का कोई अधिकार नहीं होने से रोकने के कारणों सहित सम्पूर्ण मामले की जांच कर शीघ्र कार्रवाई करने की मांग ग्रामीणों ने की है.

File pic

File pic