Published On : Sat, Jan 27th, 2018

रविवार को 5 वर्ष तक बच्चों को दिया जाएगा ‘पोलियो डोज’

Polio

File Pic


नागपुर: नागपुर महानगरपालिका के आयुक्त अश्विन मुद्गल ने बताया कि केंद्र सरकार ने देश को पोलियो मुक्त करने के लिए पल्स- पोलियो मुक्त अभियान की शुरुआत की थी. इस अभियान के तहत पांच वर्ष के उम्र तक के बच्चों को ‘पोलियो डोज’ दिया जाता है. इस अभियान का मुख्य उद्देश्य यह भी हैं कि ‘पोलियो डोज’ से शहर का एक भी लाभार्थी बच्चा वंचित न रहने पाए. राज्य में वर्ष 2011 से आज तक एक भी पोलियो ग्रषित बच्चा नज़र नहीं आया. लेकिन पश्चिम बंगाल के हावड़ा में एक बच्चा पोलिओग्रस्त मिला था. पिछले 3 वर्षों में देश में एक भी पोलियोग्रस्त होने सम्बंधित मामला प्रकाश में नहीं आया. देश को मार्च 2014 में पोलियो मुक्त देश का प्रमाणपत्र भी मिल चुका है.

आयुक्त मुद्गल के अनुसार उक्त अभियान अंतर्गत 28 जनवरी को और 11 मार्च 2018 को ‘पोलियो की खुराक’ बच्चों को दी जाएगी. यह अभियान मनपा के 10 जोन के स्वास्थ्य अधिकारी व 10 स्वास्थ्य निरीक्षक के नेतृत्व में चलाया जाएगा. इस कार्यक्रम की रुपरेखा के अनुसार पोलियो डोज देने के लिए केन्द्रों का निर्माण किया गया है. साथ ही घर-घर पहुंच लाभार्थी बच्चों को खुराक देने की टीम तैयार की गई है.

इस अभियान में 3527 कर्मियों को 28 जनवरी के लिए जिम्मेदारी दी गई है. पोलियो डोज के लिए धार्मिक स्थलों, रेलवे स्टेशन, मॉल, बस स्थानक, एयरपोर्ट, झोपड़पट्टियों आदि में केंद्र या टीम भेजने व्यवस्था की गई है.

इसके बाद 30 जनवरी से 3 फरवरी तक 717701घरों में उक्त अभियान के तहत मनपा की टीम दौरा कर वंचित लाभार्थी बच्चों को पोलियो डोज देगी. फिर 11 मार्च को पुनः शेष वंचित बच्चों के लिए अभियान का अंतिम चरण पूरा किया जाएगा.