Published On : Sat, Jul 30th, 2016

औद्योगिक विकास के अध्ययन के लिए बनी समिति की अगस्त में पहली बैठक

Anoop Kumar
नागपुर:
विदर्भ-मराठवाड़ा क्षेत्र के जिलो में औद्योगिक विकास की दृष्टि से होने वाले फायदे और मौको का अभ्यास करने के लिए सरकार ने समिति का गठन किया है। इस समिति की पहली बैठक अगस्त में होगी। इस समिति के अध्यक्ष नागपुर के विभागीय आयुक्त अनूप कुमार है।

शनिवार को पत्रकारों से बात करते हुए कुमार ने कहा कि फडणवीस सरकार बनने के बाद लगातार औद्योगिक विकास का प्रयास हो रहा है। यह समिति विदर्भ मराठवाड़ा के हर जिले में उद्योग शुरू करने जा रही है। इसके लिए जरुरी अभ्यास करने का काम यह समिति करेगी। यह अभ्यास प्रत्येक जिले का होगा जिसमे वह मौजूद संभावनाओं की तलाश की जायेगी। इस समिति में 20 सदस्य है। जिसमे अमरावती और औरंगाबाद के विभागीय आयुक्त भी शामिल है। समिति की पहली बैठक नागपुर में आयोजित होगी। इसके बाद अमरावती और औरंगाबाद में भी बैठक होगी। इस बैठक में समिति राजस्व विभाग के साथ प्रदुषण नियंत्रक मंडल से भी चर्चा करेगी। ताकि उपयोगी नीतियां तैयार की जा सके। फिलहाल विभागीय स्तर पर जानकारी जुटाई जा रही है। औरंगाबाद की जानकारी उन्हें मिल चुकी है।

सरकार पर निशाना साधते हुए विपक्ष राज्य के इन पिछड़े इलाको में विकास काम न होने का आरोप लगता रहा है। पर नागपुर में राज्य सरकार ने एम्स, ट्रिपल आईटी, लॉ यूनिवर्सिटी, आईआईएम जैसे संस्थान शुरू कर विकास के अपने दृष्टिकोण को प्रदर्शित किया है। पर यह विकास समतोल हो इसलिए औद्योगिक विकास पर भी ध्यान दिया जा रहा है। इसी के तहत इस समिति का गठन किया गया है।