Published On : Sat, Mar 6th, 2021

पहले EXTENSION दिया फिर वाहनों की FITNESS UPDATE करवा रहे

– मनपा प्रशासन में गजब कारोबार,’अंधेर नगरी चौपट राजा’

नागपुर : नागपुर महानगरपालिका में नियम को दरकिनार कर परंपरागत तरीके से किराए के पिछले कई महीनों से सड़कों पर दौड़ने के लिए UNFIT कार चल रही,TENDER समयावधि ख़त्म होने के बाद विवादास्पद सफेदपोश की शह पर आँख मूंद कर पिछले दिनों स्थाई समिति ने टेंडर करने की बजाय EXTENSION दे दिया,आजतक उक्त वाहनों का FITNESS UPDATE करने का सिलसिला जारी हैं.अर्थात ‘अंधेर नगरी चौपट राजा’.

याद रहे कि 25 फरवरी 2021 को ‘नागपुर टुडे’ ने उक्त मामला को लेकर https://www.nagpurtoday.in/officers-will-not-get-the-benefit-of-insurance-if-there-is-an-accident/02251908 समाचार प्रकाशित किया था.इसके बाद 1 मार्च 2021 को सम्बंधित विभाग सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी किराए के वाहन संचालकों को एक पत्र दिया कि अगले 7 दिनों में वाहनों के कागजात UPDATE करके प्रस्तुत करें।अर्थात पिछले कुछ महीनों से UNFIT कारों में मनपा अधिकारी/पदाधिकारी उपयोग कर रहे थे.अर्थात इस मामले में सामान्य प्रशासन विभाग सो रहा था इसलिए कि विभाग प्रमुख इस मामले को देखते ही नहीं,एक अदना सा UDC डुमरे,उसका सहयोगी फडवंशी इस विभाग को संभाल रहे हैं,दोनों की निगरानी में यह विभाग और मनपा का STORE विभाग हैं,जहाँ खरीदी-बिक्री-वितरण-भुगतान में शत-प्रतिशत धांधली हैं,जिसकी जानकारी विभाग प्रमुख धामेचा को देने के बावजूद उन्होंने अजीब सी चुप्पी साध रखी हैं,नतीजा दोनों कुंडली मार खुलेआम मनमर्जी कर रहे और मनपा खजाने को चुना लगा रहे.

विभाग के सूत्रों ने जानकारी दी कि वर्त्तमान मनपा आयुक्त ने उक्त किराए के वाहनों एक टेंडर अवधि ख़त्म होने के बाद नए सिरे से टेंडर निकालने के प्रस्ताव को स्थाई समिति की मंजूरी के लिए भेज दिया था.जहाँ स्थाई समिति ने उक्त विवादास्पद सफेदपोश के दबाव में मनपायुक्त के प्रस्ताव को नामंजूर कर उसे EXTENSION दे दिया।स्थाई समिति ने इस सम्बन्ध में किराए के वाहनों की वर्त्तमान स्थिति पर न समीक्षा की और न सम्बंधित विभाग से जानकारी ली,क्यूंकि उन पर उक्त सफेदपोश का दबाव था,इसलिए साल भर के लिए EXTENSION दे दिया।

विभाग के जानकारों के अनुसार विभाग प्रमुख ने इस सम्बन्ध में प्रस्ताव तैयार करते वक़्त वर्त्तमान में वाहनों की FITNESS और TAX संबंधी कोई समीक्षा नहीं की,इसलिए प्रस्ताव में UNFIT वाहनों के प्रस्ताव को EXTENSION दे दिया गया,जिसका स्थाई समिति की बैठक में जिरह तक नहीं की गई,नियमानुसार पहले सभी कारों का FITNESS करवाना था.

किराए के वाहनों/कारों के संचालकों को GAD के सम्बंधित विवादास्पद कर्मियों ने सख्त हिदायत दी कि फ़िलहाल आयुक्त या अन्य किसी पदाधिकारी के पास किराया बढ़ाने आदि मामले सम्बन्धी निवेदन लेकर न जाए क्यूंकि ऐसा करने पर आयुक्त FITNESS ,TAX आदि मामलों की आड़ लेकर पुनः स्थाई समिति के पास प्रस्ताव भेज देंगे,तब EXTENSION का मामला अधर में लटक जाएगा।अर्थात आयुक्त एक तरफ आय के अनुरूप विकास व्यवस्था संभालने के लिए प्रयासरत हैं तो दूसरी ओर GAD ईमानदारी का ढोंग कर,उनके नीचे के घाघ कर्मी मनपा खजाने को चुना लगा रहे.

उल्लेखनीय यह हैं कि स्थाई समिति में प्रस्ताव मंजूरी बाद अंतिम मंजूरी आयुक्त द्वारा प्रदान की जाती हैं.उक्त धांधली के मद्देनज़र कल आयुक्त को उक्त घटनाक्रम से अवगत करवाया गया और इस EXTENSION के प्रस्ताव को नामंजूर करने की अपील की गई.अब देखना यह हैं कि आयुक्त उक्त प्रकरण को कितनी गंभीरता से लेते हैं.

स्थाई समिति ने किराए के वाहनों को दिया EXTENSION

सत्तापक्ष के शह पर स्थाई समिति में धूल खा रही टेंडर का प्रस्ताव