Published On : Wed, Aug 7th, 2019

जमकर बरसे बादलों किसानों तथा नागरिकों राहत कि सास ली

एक महिने से आँख मिचौली कर बादलों कुछ दिनों कि विश्रांती के बाद जमकर बरसे बादल

धूपछाँव बादलों के मौसम में रिमझिम बारिश के बाद धूप छाव के मौसम के गर्मी अपना रूख दिखाई दे रही थी उसी तरह उमस भरी गर्मी के मौसम से चिड़चिड़ापन लग रहा था वहीं कल आसमान में बादल छाए रहने तथा धूप छाव के मौसम के गर्मी साथ रात दस बजे बारिश ने रूककर बरसना प्रारंभ किया वहीं रात ग्यारह बजे सुबह के चार बजे तक जमकर बरसते रहें वहीं जलयुक्त शिवार नदियों तथा नालों में सभी और जलमग्न हो गया खेत खलिहानों से बह रहा पानी देर-सवेर ही सही इन्द्र भगवान अपनी कृपादृष्टी दिखाई जिससे पिछले वर्ष भीषण पाणीटंचाई झुंज रहे नागरिकों ने तथा किसानों रहता महसूस कि इस वर्ष जून माह में बारिश ने रूककर बरसना प्रारंभ किया वहीं जुलाई महीने बारिश आँख मिचौली संपूर्ण महीने में बादल छाए रहने तथा धूप छाव के मौसम के साथ खाली हाथ लौट गए वही अभी जुलाई महीने के अंत में कई दिनों की विश्रांति के साथ कहीं कही बरसते हुए दिखाई दिए वहीं अभी कल रात से सुबह सवेरे तक जमकर बरसते रहें जिससे कहीं दिनों से सुख कर वीरान रेगिस्तान बनीं नदियों तथा नालों एक ही दिन के बारिश के दस्तक देते हुए आवज करते बहती हुए दिखाई दे रहा है बारिश का पानी वही काटोल शहर तथा संपूर्ण तहसील में कल रात भर धुवा धार हुआ जोकि आज सुबह काटाेल तहसील तथा कोळाली ग्राम पंचायत व डोंगरगाव एमआयडीसी को पानी सप्लाई होता इस जाम रिजर्व वॉयर जाम प्रकल्प में सुबह आठ बजे लाईव्ह 430.320 मी, लाईव्ह स्टोरेज 2.584 मीमी 3 गौरस स्टोरेज 7.284 मीमी 3, 10.63% टोटल रेन वॉटर 65 मीमी, टोटल रेनफॉल 291 मीमी,, संपूर्ण तहसील के काटाेल शहर तथा चार जिल्ह परिषद सर्कल, मंडल क्षेत्र में काटोल तहसील कार्यालय अनुसार तहसील अजय चरडे, नायब तहसीलदार निलेश कदम के दिये जानकारी अनुसार येनवा मंडल जिप सर्कल 118.5 ( टोटल 512.7 ) काटोल शहर 130.0 ( 475.5), पारडसिंगा सर्कल 120.0 टोटल ( 553.9) मेटपांजरा सर्कल 61.3 टोटल ( 444.4), रिधोरा 65.0 टोटल ( 379.2) टोटल 551.8 यावरेज 91.96 ग्रँड टोटल – 28081 टोटल यावरेज – 467.33 मी.मी बारिश दर्ज की गई है वहीं मौसम सुबह से ही रिमझिम बारिश चलती रही बुधवार का मौसम सुबह से ही सुहाना दिन बना रहा कल हुई आसमानी बारिश के मेहरबान होने किसानों तथा नागरिकों चहरे पर खुशियों कि लहर दिखाई दि।