Published On : Tue, Oct 14th, 2014

गोंदिया : हुदहुद का आगमन, किसानों में कही ख़ुशी कही गम


गोंदिया।
पिछले देढ माह से जिले के किसान आस लगाये बैठे थे बारिश की, आखीरकार तमाम मिन्नतों के बाद हुदहुद नामक बारिश ने जिले में दस्तक दे डाली, लेकिन इस हुदहुद नामक बारिश से किसानों में कही ख़ुशी तो कही गम दिखाई दिया.

अभी इस वक्त जिले के किसानों की धान की फसल अपने आखरी पड़ाव पर है, जहां हल्के धान की फसल कांटने के कगार पर है तो वहीं भारी धान की फसल कुछ ही हफ्तों में आनेवाली है. जिले में पूरी तरह सिंचन की व्यवस्था न होने के कारण पिछले देढ माह से किसान बारिश की राह देख रहे थे. जिस वक्त फसलों को पानी की जरुरत थी उस वक्त बारिश का भी पता नहीं था. बारिश के अभाव में हलके धान की फसल खड़ी-खड़ी ही सुख गयी लेकिन बारिश नहीं हुयी. अब बारिश होने के कारण जो कुछ हलके धान की फसल थी पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है, जिससे जिले के अनेक किसानों को लाखों का नुकसान उठाना पड़ा.

इस वक्त भारी धान की फसल अपने आखरी दौर में है जिसे अब पानी की जरुरत है और ऐसे वक्त बारिश आने से भारी धान की फसल को निश्चीत ही फायदा होना है, जिसके चलते भारी धान लगाने वाले किसानों में हर्ष दिखाई दे रहा है. वहीं चुनाव की बात करे तो चुनाव प्रचार के आखरी दिन हुई झमाझम बारिश ने उम्मीदवारों की प्रचार सभाओं पर एवं रैलीयों पर पानी फेर दिया है.

File pic

File pic