Published On : Tue, Jan 20th, 2015

धामणगांव रेलवे : फिर एक किसान ने फांसी लगाई


चार दिनों में एक ही गांव की दुसरी घटना

Farmer suicide copy
धामणगांव रेलवे (अमरावती)।
चार दिन पहले तहसील से 22 किमी दुर स्थित झाडग़ांव (चिचोली) के युवा किसान द्वारा आत्महत्या किए जाने की घटना से गांववासी उभर भी नहीं पाए थे कि मंगलवार को फिर इसी गांव के एक किसान ने फांसी लगाकर अपनी जीवनलिला समाप्त कर ली. सुभाष गुलाबराव पारिसे(42) नामक इस किसान की आत्महत्या की वजह अउपज व कर्जबाजारी बताई जा रही है. आत्महत्या से पहले सुभाष ने एक चिठ्ठी भी लिखीजिसमें उसने आर्थिक तंगहाली को आत्महत्या की वजह बताया है. गांव वासियों के अनुसार सभाष के पास इसी गांव में चार एकड़ का खेत था. लेकिन गत 3 वर्षों से लगातार हो रही अउपज के कारण सुभाष को अपने परिवार का पालन पोषण करना तक कठीन हो गया था. उस पर कर्ज का बोझ उसे परेशान कर रहा था. सोमवार को सबेरे वह अपने घर से निकला. लेकिन देर रात तक उसके न लौटने उसके परिजनों ने उसकी खोज आरंभ की. मंगलवार को सबेरे वह गांव के ही देविदास शिंगणापुरकर के खेत में लगे नीम के पेड़ से लटकता उसका शव दिखाई दिया.

बड़ी बेटी मंदबुध्दि
सुभाष को दो पुत्रियां है. जिनमें से बड़ी तृशाली मंदबुध्दि है.जबकि छोटी बेटी केवल 3 वर्ष की है. सुभाष पर मंगलवार को दोपहर अंतिम संंस्कार किए गए.