Published On : Sat, Aug 3rd, 2019

स्टाफ सिलेक्शन की परीक्षा नियमों के चलते नहीं दे पाए परीक्षार्थी

नागपुर: शुक्रवार को स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की परीक्षा थी. यह परीक्षा बेलतरोड़ी स्थित आयोन झोन में थी. लेकिन पहचानपत्र के नियमों की सख्ती के कारण कई परीक्षार्थी परीक्षा नहीं दे पाए. इस दौरान इन परीक्षार्थियों ने हंगामा भी किया. जानकारी के बाद आम आदमी पार्टी विद्यार्थी संघटन के पदाधिकारी भी परीक्षा केंद्र पर पहुंचे. जानकारी के अनुसार स्टाफ सेलक्शन कमीशन की ओर से ली गई मल्टी टास्किंग स्टाफ परीक्षा में शामिल होने के लिए सैकड़ो परीक्षार्थी सेंटर पहुंचे थे. पहचान पत्र के लिए आधार कार्ड अनिवार्य किया गया था.

जब परीक्षा केंद्र में पहुंचने का समय आया तो परीक्षार्थियों के आधार कार्ड पर जन्म तिथि पूरी नहीं थी. आधार में केवल साल दिया हुआ था. परीक्षार्थियों का दिन और महीना नहीं दिया गया था. जिसके कारण इतने विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं दिया गया. इस परीक्षा में नागपुर के साथ ही गोंदिया, भंडारा के अलावा और भी जिलों से परीक्षार्थी पहुंचे थे.

Advertisement

दरअसल परीक्षा में शामिल होने के लिए स्टाफ सेलेक्शन ने कुछ नियम बनाएं है. इसमें से एक मुख्य नियम था परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र पर जो जन्मतिथि है. उसे प्रमाणित करने के लिए कोई न कोई अन्य पहचानपत्र लाना अनिवार्य था. पहले जो आधारकार्ड बनायें गए थे उनपर केवल वर्ष ही दिया गया है. लेकिन अब तक किसी को किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं आयी थी.

Advertisement

इस बार कमीशन ने सख्त नियम बनाने के कारण परीक्षार्थियों को नुक्सान झेलना पड़ा. मौके पर पहुंचे आम आदमी पार्टी विद्यार्थी संघटन के मार्गदर्शक अमोल हाडके और विदर्भ रीजन संयोजक पीयूष आकरे ने परीक्षा केंद्र पर मौजूद केंद्र संचालक से बात भी की. लेकिन उन्होंने नियमों का हवाला देते हुए असमर्थता जताई.

इस मामले को लेकर संघटन ने बेलतरोड़ी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है. इस समय संघटन ने परीक्षा से वंचित छात्रों को फिर से परीक्षा देने की मांग रखी है. आम आदमी पार्टी के नेहल बेरावार, दामोदर वानखेडे, गिरीश तितरमारे इस समय मौजूद थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement