Published On : Thu, Aug 24th, 2017

जेरॉक्स सेंटर से बिक रहे परीक्षा के फॉर्म


नागपुर:
 राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के अमरावती रोड स्थित कैंपस में फिलहाल क्लर्क वर्ग की मनमानी खूब देखने को मिल रही है. विश्वविद्यालय के नियमों को दरकिनार कर मनमानी करने की बात कैंपस में सामने आई है.’नॉट फॉर सेल’ परीक्षा के फॉर्म पर लिखा होता है बावजूद इसके विद्यार्थियों को यह फॉर्म बेचे जा रहे हैं. यहां के अधिकांश विभागों में फॉर्म ही उपलब्ध नहीं है. वहीं विद्यार्थियों को विभाग के कर्मचारी कैंटीन से फार्म की फोटोकापी लाने के लिए कह रहे हैं. जिससे जेरॉक्स सेंटर और विभागों के क्लर्क में मिलीभगत की भी चर्चा हो रही है. नागपुर विश्वविद्यालय ने आईटी रिफार्म द्वारा परीक्षा फॉर्म ऑनलाइन भरना शुरू किया था. नियमानुसार कॉलेज के विद्यार्थी अपने ही कॉलेज में फॉर्म भरेंगे. इसी तरह कैंपस में पढ़ाई करनेवाले विद्यार्थियों को भी अपने विभाग में ही ऑनलाइन आवेदन करना है. लेकिन सच्चाई इससे कहीं अलग है.

मानविकी (हुमैनिटीज) विभाग के विभिन्न विषयों के विद्यार्थियों को परीक्षा फॉर्म के लिए यहां का स्टाफ वापस लौटा रहा है. विद्यार्थियों को फॉर्म लेने के लिए क्लर्क द्वारा कैंटीन में भेजा जा रहा है. कैंटीन के जेरॉक्स सेंटर में ‘नॉट फॉर सेल’ लिखा हुआ फॉर्म विद्यार्थियों को 6 रुपए में खरीदना पर मजबूर होना पड़ रहा है. विद्यार्थियों से एडमिशन के समय विभिन्न प्रकार के शुल्क वसूले जाते हैं. जिसमें विद्यार्थियों को यह सभी सुविधाएं दी जाती हैं. लेकिन विश्वविद्यालय में सभी नियमों को ताक पर रखकर मुफ्त के फॉर्म की खुलेआम बिक्री चल रही है. नियम यह भी है कि विद्यार्थियों को विभाग से ऑनलाइन पद्धति से फॉर्म भरना संभव है. लेकिन फिलहाल ऑनलाइन प्रक्रिया बंद है. साथ ही परीक्षा शुल्क के अलावा विद्यार्थियों को कोई भी दूसरा शुल्क नहीं देना है. इन सभी प्रक्रिया पर ध्यान रखने की जिम्मेदारी विभाग प्रमुख पर होती है. लेकिन विभाग प्रमुख द्वारा भी अपने क्लेरिकल स्टाफ पर ध्यान नहीं दिए जाने से परेशानी विद्यार्थियों को हो रही है.

इस बारे में नागपुर विश्वविद्यालय के प्र-कुलगुरु डॉ. प्रमोद येवले ने कहा जा रहा है कि विद्यार्थियों को शुल्क के अलावा कोई भी शुल्क देने की जरूरत नहीं है. लेकिन कैंटीन स्थित झेरॉक्स सेंटर से फॉर्म की बिक्री की जा रही है तो यह गंभीर बात है. येवले ने विद्यार्थियों से फॉर्म कहीं से भी न ख़रीदने की अपील की है साथ ही समस्या होने पर उनसे शिकायत करने की सलाह दी है.