Published On : Mon, Aug 26th, 2019

ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के प्रयास सफल

महावितरण की दुर्घटना मुक्त बिजली आपूर्ति प्रदान करने की पहल

नागपुर: महावितरण द्वारा बिजली उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली आपूर्ति के साथा दुर्घटना मुक्त बिजली आपूर्ति मुहय्या कराने के लिए जिला योजना समिति के सहयोग से किए गए एक विशेष अभियान में, अब तक महावितरण के विदर्भ परिक्षेत्र के तहत भिडभाड वाले 699 स्थलो की खतरनाक वितरण प्रणाली को हटा दिया गया है या भुमिगत किया गया है, इसके अलावा 139 स्थलों की खतरनाक वितरण प्रणाली को हटाने का या भुमिगत कराने का काम अंतिम चरण मे है।

बीजली उपभोक्ताओं को निर्बाध और गुणवत्तापूर्ण बिजली उपलब्ध कराने के साथ-साथ दुर्घटना मुक्त बिजली आपुर्ती हेतू राज्य के ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने संबंधित जिल्हे के पालकमंत्रियों से आग्रह किया था की, वह जिला योजना समिति के माध्यम से इस काम के लिए धन उपलब्ध कराए। तदनुसार, महावितरण के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक संजीव कुमार ने भी महावितरण के संचालन और प्रबंधन के लिए आवंटित धनराशि से कुछ हिस्सा प्रदान करके आकस्मिक स्थलों पर खतरनाक बिजली वितरण प्रणाली को हटाने या भुमिगत कर इन स्थलो को दुर्घटना मुक्त कराने का काम किया।

तदनुसार, महावितरण के नागपुर परिक्षेत्र तहत विदर्भ के 11 जिलों में बड़ी संख्या में कार्य शुरू किए गए हैं। इसने अकोला जिले में 56 दुर्घटनाओं पर, बुलढाणा जिले में 193, वाशिम जिले में 2, चंद्रपुर जिले में 84, भंडारा जिले में 55, गोंदिया जिले में 44 और नागपुर जिले में 265 स्थानों पर खतरनाक बिजली वितरण प्रणालियों को हटा दिया है या भुमिगत किया गया है। साथ ही अकोला जिले के 15 स्थलों पर, बुलढाणा जिले में 13, चंद्रपुर जिले में 85 और नागपुर जिले में 18 स्थानों पर खतरनाक बिजली वितरण प्रणाली को हटाने भुमिगत कराने का काम जारी है।

राज्य मे हर साल बिजली से होने वाली दुर्घटनाओं मे बडी मात्रा मे जिवित हानी होती हैं, दुर्घटनामुक्त और निर्बाध बिजली आपुर्ती हेतू जारी काम गुणवत्तापुर्वक तथा जल्द से जल्द करने के लिये सरकार व्दारा विशेष प्रयास किए जा रहे है, संबंधित ठेकेदार एवं अधिकारीयो ने भी इस कामो की गुणवत्ता के साथ कोई समझोता ना करने का अनुरोध महावितरण के नागपुर परिक्षेत्र के प्रभारी क्षेत्रिय संचालक दिलीप घुगल ने किया है.