Published On : Tue, Jan 25th, 2022

ऊर्जा मंत्री राज्य सरकार की नीति से नाराज

Advertisement

– राज्य सरकार पर लगाया मदद नहीं करने का आरोप

नागपुर– ऐसा लगता है कि बिजली के मुद्दे पर राज्य सरकार और ऊर्जा मंत्री नितिन राउत के बीच कोई अनबन चल रही है. उन्होंने महाराष्ट्र सरकार के प्रति नाराजगी जताई है। ऋण उपलब्ध नहीं हैं और वसूल नहीं किए जाते हैं। यह सीधा आरोप मंत्री ने लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार हमारी मदद नहीं कर रही है.

Advertisement
Advertisement

रात में बिजली की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। बिजली की मांग बढ़ती जा रही है। लेकिन, इसमें पैसे खर्च होंगे। राज्य मंत्रिमंडल में चर्चा के बावजूद हमें ग्रामीण विकास एवं शहरी विकास विभाग से राशि नहीं मिली है. ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने कहा कि अंत में, मुझे लगा कि गंभीर दखल के लिए यह मामले को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पास ले जाना चाहिए।ताकि अन्य विभागों की सक्रियता बढे.

याद रहे कि देश में कोयले की कमी थी। उस समय राज्य में अंधेरा नहीं होने दिया जाता था। भारी बारिश और बाढ़ के संकट में मदद की। बिजली सभी के लिए नैसर्गिक जरुरत हैं। यदि इसमें कोई बाधा आती है तो राज्य मंत्री होने के नाते यह मेरा कर्तव्य है कि मैं यह जानकारी बड़े नेताओं तक पहुंचाऊं। उन्होंने कहा, ‘अगर हमें राज्य सरकार से पैसा मिलता है, तो हम बिजली क्षेत्र में बड़े जनहितार्थ काम कर पाएंगे।

राज्य में तीन पक्षीय सरकार है,जिसमें कांग्रेस का समावेश है, बतौर कांग्रेसी मंत्री हमारे पास ऊर्जा विभाग है,लेकिन आपसी समन्वय में थोड़ी अड़चन की वजह से हम मांग करते हैं कि महाविकास अघाड़ी एक साथ काम करें। मुख्यमंत्री ने मुझे समय दिया है और मैं उनसे चर्चा करूंगा। राज्य के हित में फैसला लिया जाएगा।

राउत ने कहा कि किसानों के मामले में भी बड़ा फैसला होगा। MSEDCL आज लाभदायक नहीं है। लेकिन, अगले कुछ दिनों में हम इसका लाभ उठाएंगे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement