Published On : Thu, Oct 17th, 2019

‘ सत्ता से मलाई ’ वाली पोस्ट पर चुनाव आयोग ने लिया संज्ञान

गोंदियाः वाट्सऐप पोस्ट को लेकर 2 उम्मीदवारों की पत्नीयों में आरोप-प्रत्यारोप

गोंदिया: गोंदिया विधानसभा सीट पर चुनाव प्रचार जोर-शोर से शुरू है, रणभूमि में डटे 18 उम्मीदवारों में से हर कोई खुद को जीत का दावेदार बता रहा है। लोकतंत्र के इस महापर्व में मतदाता का वोट खासा महत्व रखता है और जीत का सेहरा किसके सिर सजेगा? इसका फैसला तो जनता जर्नादन करेगी। अलबत्ता चुनावी मौसम में अब प्रचार अपने अंतिम चरण में पहुंच जाने से 2 उम्मीदवारों की पत्नीयों के बीच आरोप -प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है।

चुनावी मैदान में भाग्य आजमा रहे एक निर्दलीय प्रत्याक्षी की धर्मपत्नी ने बकायदा पत्र परिषद लेकर अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के वाट्सऐप पर एक अन्य उम्मीदवार की पत्नी द्वारा भेजे गए मैसेजेस (पोस्ट) का जिक्र करते गंभीर आरोप लगाए है।

आयोजित संवाददाता सम्मेलन में निर्दलीय प्रत्याक्षी की धर्मपत्नी ने जानकारी देते बताया, उनके मोबाइल पर 2 अक्टू. के शाम मैसेज भेजे गए जिनमें सवाल भी उन्हीं का था और जवाब भी उन्हीं का था..?

क्योंकि उनके पास उक्त नंबर सेव नहीं था लिहाजा उन्होंने वह नंबर किसका है, इसकी छानबीन की जिसपर 12 अक्टू. को कन्फर्म हुआ कि, वह नंबर एक उम्मीदवार की पत्नी का है।

भेजे गए मैसेज में उन्होंने लिखा है- ‘25 साल सत्ता की मलाई तो हम खाए और 25 साल खाएंगे, डियर क्यूं चिंता करती हैै, तू चाहे तो हमारे साथ खा सकती है, ऑलवेज वेलकम..’?

निर्दलीय प्रत्याशी की पत्नी ने कहा- हमारा आरोप है कि, इस तरह से मैसेज भेजने का मतलब यह है कि, वह स्वीकार कर रहे है कि, उन्होंने 25 साल के राजकरण में सत्ता की मलाई खायी है , लिहाजा हमारी मांग है कि, संबधित व्यक्ति के सत्ता में रहते हुए उनके कार्यकाल में लिए गए निर्णयों की उच्चस्तरीय जांच की जाए और संबधित प्रत्याशी का नामांकन खारिज किया जाए, तद्हेतु इस संदर्भ में हमने सारी जानकारी सबूत के साथ नई प्रशासकीय इमारत मुंबई के मुख्य चुनाव आयोग सहित मा.

जिलाधिकारी गोंदिया, मा. चुनाव निर्णय अधिकारी गोंदिया मतदार संघ, मा. जिला पुलिस अधीक्षक तथा अप्पर पुलिस अधीक्षक एनटी करप्शन ब्यूरो इन्हें 13 अक्टू. को प्रेषित की है जिसपर चुनाव आयोग की ओर से संज्ञान भी लिया गया है, एैसी जानकारी आयोजित पत्र परिषद में दी गई।