| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, May 19th, 2021
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    डॉ॰ राजीव चव्हाण ने रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (अफसर) कार्यालय का पदभार ग्रहण किया

    डॉ॰ राजीव चव्हाण, भा.र.ले.से. , एन डी सी ने दिनांक 17.05.2021 को रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (अफसर) कार्यालय का पदभार ग्रहण किया । यह पद भारत सरकार के उच्चतम प्रशासनिक ग्रेड (एच॰ए॰जी) के अंतर्गत अपर सचिव के समतुल्य है । ये 1990 बैच के आई.डी.ए.एस. अधिकारी तथा सितंबर 1991 में इस विभाग से जुड़े। डॉ. राजीव चव्हाण ने सन 1985 में गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज नागपुर से एम.बी.बी.एस. की डिग्री प्राप्त की । ये रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर से विधि स्नातक है।

    इन्हें अपने प्रॉफेश्नल करियर एवं शासकीय जीवन में वित्तीय मामलों, लेखा परीक्षा, लेखांकन एवं भुगतान करने तथा कार्मिको के कल्याण संबंधी करी करने का व्यापक अनुभव है। इनहोने सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्रालय नई दिल्ली में सन 04/08/2008 से 18/06/2010 तक निदेशक के प्रतिष्ठित पद पर कार्य किया है जहा प्रशासन, स्थापना, राजभाषा, एन.जी.ओ. , एन. एस. एस. सी. ग्यारहवी डॉ॰ अंबेडकर एवं जगजीवन राम संस्थान जैसे प्रतिष्ठित आयोगों मे सफलता पूर्वक योगदान दिए। तत्पश्चात इन्होंने आयुध निर्माण बोर्ड कोलकाता के तहत रक्षा उत्पाद विभाग में महत्वपूर्ण कार्यालय अंबाझरी में लेखा नियंत्रक (निर्माणी) के रूप मे महत्वपूर्ण व यादगार भूमिका निभाए। इन्होने आई एफ़ ए (वायुसेना), आई एफ़ ए (नौसेना) नई दिल्ली मे भी अपनी सेवाएँ दी हैं। इसके अलावा इन्हें कई आयुध एवं वाहन निर्माणियों के अलावा क्षेत्रीय एवं कार्यात्मक (फंक्शनल) नियंत्रक के रूप मे कार्य करने का अनुभव है। इस कार्यालय में यादगार के पूर्व ये रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (द॰ प॰ कमान) जयपुर कार्यालय मे नियंत्रक थे।

    ये 58 नेशनल डिफेंस कॉलेज नई दिल्ली के स्टूडेंट ऑफिसर रह चुके हैं तथा नवंबर 2018 में इन्होंने उस कोर्स को पुरा किया था। उच्चतम प्रशासनिक ग्रेड (एच ए जी) मे पदोन्नति के पूर्व लेखा निर्माणी कार्यालय खड़की में भी नियंत्रक (निर्माणी) के रूप मे योगदान दे चुके हैं। ये ऑर्डिनेन्स सेट अप एवं इस परिवार के एक प्रचलित चेहरा हैं।

    र॰ ले॰ प्रधान नियंत्रक (अफसर) कार्यालय थलसेना सी डी एस (जनरल रैंक) से लेकर युवा अधिकारियों (लेफ्टिनेंट रैंक) तक के अधिकारियों के वेतन-भत्तों इसकी पूर्व लेखा परीक्षा एवं विभिन्न दावों का समय से भुगतान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होने कार्यभार ग्रहण करने के तुरंत बाद कोविड-19 से तीन कर्मचारियो की इस कार्यालय को हुई क्षति पर सभी दिवांगत कर्मचारियो की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी तथा एक मिनट का मौन रखा तदुपरान्त कोविड19 प्रबंधन , बचाव एवं जागरूकता पर अपने निर्देश प्रदान किये । साथ ही सभी उपस्थित IDAS अधिकारियों को प्राप्त शिकायत एवं विषमताओ के निवारण , कार्यालय को कंप्यूटरीकरण अभियांत्रिकीकरण एवं तकनीकीकरण पूर्ण बनाने हेतु प्रयास करने के निर्देश प्रदान किये गए।
    इस अवसर पर भारतीय रक्षा लेखा सेवा के अधिकारीगण में श्रीमती मित्तल एस हिरेमठ, भा. र. ले. से., संयुक्त नियंत्रक , श्री लेहना सिंह भा. र. ले. से, उप नियंत्रक , श्री एम एस जोशी , भा. र. ले. से, श्रीमती एम एम इंगलगावकर, भा. र. ले. से, श्रीमती आरती राय चौधरी , भा. र. ले. से, टी सतीश कुमार, भा. र. ले. से उपस्थित रहे। तत्पश्चात डॉ॰ राजीव चव्हाण, भा.र.ले.से. , एन डी सी प्रधान नियंत्रक ( अफसर ) ने श्री एस एस पेंढ़ारकर प्रधान नियंत्रक (द.क.) पुणे से मुलाक़ात की।

    सम्पूर्ण चर्चा सत्र के दौरान भारत सरकार द्वारा जारी कोविड 19 दिशा- निर्देशों एवं सामाजिक दूरी की पालना सुनिश्चित की गई। हम सेना (थलसेना) के चौथे स्तम्भ है जो सरहद एवं अंदरूहनी शांति सुरक्षा के लिए तैनात रक्षा प्रहरियों को उत्कृष्ट सेवा प्रदान करने के लिए संकल्पित है ।

    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145