Published On : Mon, Dec 23rd, 2019

गोंदिया-भंडारा जिले के समस्याओं पर डॉ. फुके ने मुख्यमंत्री का ध्यान केंद्रित किया

राज्य के अंतिम शोर पर बसे अतिदुर्गम क्षेत्र गोंदिया-भंडारा जिले में विकास के पिछड़ेपन व मुलभूत सुविधाओं के अभाव को लेकर इसके समाधान हेतु क्षेत्र के विधान परिषद सदस्य डॉ. परिणय फुके ने शनिवार को शीतकालीन अधिवेशन के दौरान विशेष जोर देते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से ध्यान केंद्रित करने की मांग की। विधायक श्री. फुके यह विधानभवन के समीक्षा बैठक में उपस्थित हुए थे तथा उन्होंने मुख्यमंत्री श्री. ठाकरे के समक्ष हाल ही में बेमौसम बारिश से धान की फसलों को हुए नुकसान पर त्वरित किसानों को अनुदान देने, वैनगंगा नदी में एकोर्निया वनस्पति के बड़े पैमाने पर बढ़ोतरी होने पर नदी का पानी प्रदूषण होने से रोकने, खनिकर्म विभाग की निधी से मशीन खरीदी करने, गौसीखुर्द सिंचन प्रकल्प पूर्ण कर प्रकल्प ग्रस्त किसानों को मुआवजा देने, गोंदिया के जिला केटीएस व बाई गंगाबाई अस्पताल में रिक्त वैद्यकीय अधिकारियों के पद व वर्ग ३ के पद तत्काल भरने, जलसंधान के अपूर्ण काम पूर्ण करने, नादुरुस्त रास्तों के कामों को जल्द गति प्रदान करने, नागझिरा-नवेगांव व्याघ्र प्रकल्प में पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु बाघों की संख्या में बढ़ोतरी करने पर जोर देते हुए एैसी अनेक समस्याओं के समाधान हेतु मुख्यमंत्री से मांग की जिसपर दोंनों जिला अस्पतालों के रिक्त पद तत्काल भरने के आदेश वैद्यकीय शिक्षण विभाग के सचिव को दिए गए।

– रवि आर्य