Published On : Mon, Jul 13th, 2015

अकोला (मुर्तिजापुर) : नकारात्मक पड़ोसी चाचा की ओर ध्यान न दे – प्रा. सतीश फड़के

Vidyarthi Parishad program  (1)
मुर्तिजापुर (अकोला)। नकारात्मक भूमिका निभाने वाले पडोसी चाचा की ओर ध्यान न दे, बहेरा बनकर अपना लक्ष हासिल करने की सलाह प्रा. सतीश फडके ने दी. वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मुर्तिजापुर शाखा की ओर से आयोजित राष्ट्रीय छात्र दिवस के कार्यक्रम में बोल रहे थे.

राधा मंगलम स्टेशन विभाग तिड़के नगर में विद्यार्थी परिषद स्थापना दिवस कार्यक्रम में व्याख्यान और मेधावी छात्रों का सन्मान किया गया. इस दौरान मंच पर प्रमुख अतिथि प्रांत उपाध्यक्ष मयूरेश कुलकर्णी चिखली, प्रमुख वक्ता प्रा. सतीश फड़के, प्रास्ताविक प्रा. दिपक जोशी उपस्थित थे. सर्वप्रथम स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का पूजन किया गया. मान्यवरों को शाल और श्रीफल देकर सन्मान किया गया. इस दौरान मयूरेश कुलकर्णी ने विद्यार्थी परिषद स्थापना का इतिहास बताकर 66 वर्षों में किये कार्य बताएं विद्यार्थी परिषद ये मुक्त विद्यापीठ है. ये परिषद विद्यार्थी में देशभक्ति निर्माण करने का प्रयास करते है. साथ ही परिषद के आंदोलन में सार्वजनिक तोड़फोड़ नही होती, क्योंकी परिषद को सार्वजनिक पैसों का महत्त्व है. इसलिए सभी परिषद से जुड़े ऐसे विचार उन्होंने व्यक्त किए.

प्रा. फड़के ने आगे कहां कि, सफलता का पर्व धीरे-धीरे मनाये क्योंकी आज का विद्यार्थी हमेशा मेधावी रहेगा और पीछे पड़ा विधार्थी मेधावी नहीं रहेगा? ऐसा नही है. हमे जो अच्छा लगे वो करे तथा अभिभावक भी बच्चो को सहयोग करे. बच्चो पर अपने विचार न लादे. इस दौरान दसवी-बारहवी में मेधावी छात्रों को स्वामी की मूर्ती देकर सम्मानित किया गया. अंतः में शर्वरी मुंजेकर, मुक्ता पाठक ने वंदे मातरम गीत प्रस्तुत किया.

Vidyarthi Parishad program  (2)
कार्यक्रम की सफलता के लिए अमोल पिम्पले, मनीष फाटे, करण देशमुख, तेजस देशमुख, तेजस इंगले, आदित्य मारवात, प्रसाद धार, विशाल अग्रवाल, अथर्व तिड़के, राज बूब, भरत कदम, प्रसाद चोरे, अमोल सुगानी आदि ने प्रयास किया. संचालन राहुल झारोडिया तथा आभार शुभम अवताड़े ने किया. कार्यक्रम में अधिक संख्या में विद्यार्थी उपस्थिति थे.