Published On : Mon, Dec 31st, 2018

सरकार की साढ़े चार वर्ष की नाकामी छुपाने के लिए बीजेपी कर रही फिल्म की मार्केटिंग – विशाल मुत्तेमवार

नागपुर: पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह पर बनी फिल्म “एन एक्सीडेंटल प्राईम मिनिस्टर” को लेकर कांग्रेस आपत्ति दर्ज करा रही है। फिल्म का ट्रेलर लॉन्च हो चुका है जिससे संदेह व्यक्त किया जा रहा है कि फिल्म के माध्यम से गाँधी परिवार पर निशान साधा जा रहा है। फिल्म को लेकर पार्टी ने आपत्ति जरूर दर्ज कराई है लेकिन इसका सार्वजनिक विरोध न करने का फ़ैसला पार्टी ने लिया है। युवक कांग्रेस ने जरूर फिल्म को लेकर उग्र रुख प्रदर्शित किया है। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी विशाल मुत्तेमवार के मुताबिक यह माना तो जा सकता है कि फिल्म किसी किताब पर बनी है और इसे फिल्म की तरह ही लेना चाहिए। लेकिन फिल्म को लेकर जिस तरह की दिलचस्पी बीजेपी द्वारा दिखाई गई है उससे संदेह होता है। बाकायदा बीजेपी के ट्वीटर हैंडल से फिल्म का प्रमोशन किया जा रहा है। क्या किसी राजनीतिक दल का काम फिल्म के प्रमोशन तक सिमट जायेगा ? फिल्म की रिलीज डेट को लेकर भी विशाल मुत्तेमवार ने सवाल उठाया है। उनके मुताबिक यह बीजेपी की सोची-समझी चाल है । बीते साढ़े चार वर्ष में बीजेपी कुछ खास नहीं कर पायी। सरकार के अंतिम दिनों में जनता इसका हिसाब माँग रही है इसलिए ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के हथकंडे अपनाये जा रहे है। अपने साढ़े चार वर्ष की नाकामी छुपाने के लिए बीजेपी फिल्म की मार्केटिंग कर रही है। बीजेपी के सारे नेता इसी काम में लगे हुए है।

मुत्तेमवार का कहना है कि फिल्म को लेकर किसी का विरोध नहीं है मगर,अगर फिल्म का मकसद ही किसी पर निशाना साधना हो गलत तथ्यों को प्रस्तुत करना हो और इसके पीछे किसी राजनीतिक दल का हाँथ हो तो यह राजनीति का निम्न स्तर है। बेहतर होता कि बीजेपी नोटबंदी,जीएसटी,किसान आत्महत्या जैसे मुद्दों पर फिल्म बनाती। इस सरकार ने जो भी फ़ैसले लिए उसका विपरीत परिणाम देश के लोगों और अर्थव्यवस्था पर पड़ा है। सिर्फ ध्रुवीकरण की राजनीति की गई अब जब जनता जवाब माँग रही है तो सत्ताधारी पार्टी फिल्म के प्रमोशन और उसकी मार्केटिंग में व्यस्त है।