Published On : Wed, May 2nd, 2018

भंडारा-गोंदिया के लोकसभा चुनाव के लिए परीक्षाओ को स्थगित न करे प्रशासन


नागपुर: भंडारा-गोंदिया में लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र उपचुनाव 28 मई 2018 को होने जा रहे है. इसी दिन नागपुर यूनिवर्सिटी से स्लंग्नित कॉलेजो में 7 परीक्षाओ का भी आयोजन किया गया है. जिसमे एम.फील की 4, बी.ए की 1, एवं बीएससी की 2 परीक्षाओ का समावेश है. प्रशासन ने स्लंग्नित कॉलेजो के अंतर्गत भंडारा और गोंदिया के कॉलेजो को मतदान केंद्र बनाने का निर्णय लिया है. जिसका विरोध नागपुर यूनिवर्सिटी के भंडारा के सिनेट सदस्य प्रवीण उदापुरे ने किया है. उदापुरे ने परीक्षाएं आगे न बढ़ाने और कॉलेजो को मतदान केंद्र न बनाने की मांग को लेकर महाराष्ट्र के राज्यपाल, दिल्ली के केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव, मुख्य चुनाव आयुक्त, चुनाव निर्णय अधिकारी, भंडारा के जिलाधिकारी और नागपुर यूनिवर्सिटी के कुलगुरु को भी इस बारे में निवदेन सौंपा है.

सिनेट सदस्य उदापुरे ने जानकारी देते हुए बताया की इसके पहले 24 को दीक्षांत समारोह के लिए परीक्षाएं आगे बढ़ाई गई थी. उसके बाद 8 अप्रैल को महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा का सन्दर्भ देकर परीक्षाएं बढ़ाई गई थी. पहले ही सेमस्टर पैटर्न की वजह से प्रशासनिक कार्यो में परेशानी हो रही है.” राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) की समितियों का दोनों जिलों के वरिष्ठ कॉलेजो में आगमन नियोजित है. जिसके कारण कॉलेजो में गतिविधिया शुरू हो चुकी है. इन कॉलेजो में अध्यापक और अन्य कर्मी इस कार्य में और उत्तरपुस्तिकाये जांचने में व्यस्त है. ऐसे में इन कर्मचारियों को और अध्यापको को शिक्षा का काम छोड़कर चुनाव के काम में न लगाया जाए और परीक्षाओ को स्थगित न करने की मांग उदापुरे ने की है.