Published On : Mon, Apr 13th, 2020

जयंती दिवस पर घर से बाहर ना निकलें , लाकडाउन का पालन करें

जिलाधिकारी कार्यालय में पुलिस विभाग द्वारा शांतता बैठक ली गई

गोंदिया : 14 अप्रैल को डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के जयंती पर हर साल उनके लाखों अनुयाई जन्म स्थल भीम जन्मभूमि स्मारक महू (मध्य प्रदेश) बौद्ध धम्म दीक्षास्थल दिक्षाभूमि ( नागपुर ) उनका समाधि स्थल चैतन्य भूमि ( मुंबई) जैसे पवित्र स्थलों पर उन्हें अभिवादन करने के लिए इकट्ठे होते हैं। लेकिन इस बार कोरोना वायरस के चलते देशव्यापी लाकडाउन के वजह से शासन के आदेशों का पालन करते हुए अपने -अपने घरों में ही उत्साह के साथ जय भीम का जयघोष करते हुए उनके अनुयायियों ने डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर की जयंती मनाने का निर्णय लिया है।

शासन के दिशा- निर्देशों का पालन होना चाहिए
बाबासाहेब के अनुयाई , संविधान प्रेमी 14 अप्रैल को घर से बाहर ना निकलें, लाकडाउन का पालन करें और जयंती , परिवार के साथ घर पर ही बाबासाहब को वंदन , अभिवादन कर मनाएं ऐसी अपील सर्व समाज जयंती समारोह समिति तथा संविधान मैत्री संघ गोंदिया द्वारा करते कहा गया है कि शासन द्वारा जारी किए गए नियम- निर्देशों का पालन होना चाहिए।


उल्लेखनीय है कि जिलाधिकारी कार्यालय में पुलिस विभाग द्वारा शांतता बैठक का आयोजन किया गया इस बैठक में सुरक्षा नियम प्रबंध पर विचार विमर्श करते हुए मुख्य चौराहे , रास्तों पर , प्रतिमा स्थल , बुद्ध विहार व अन्य सार्वजनिक तथा सामाजिक स्थलों पर गर्दी ना करने के दिशा निर्देश जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए हैं।

चित्रकला के माध्यम से महामानवों को आदरांजली..

संविधान मैत्री संघ, सर्वसमाज जयंती उत्सव समिती इनके संयुक्त तत्वावधान मे घर-घर जयंती जागृति सप्ताह ऑनलाइन उपक्रम अंतर्गत 8 से 14 अप्रैल के बीच विविध कला , साहित्य के बौद्धिक कार्यक्रम लिए जा रहे हैं,

इस उपक्रम अंतर्गत 12 अप्रैल को लिए गए ऑनलाइन चित्रकला स्पर्धा में हिस्सा लेने वाले प्रतियोगियों द्वारा सम्राट अशोक, क्रांतिसुर्य महात्मा फुले, प्रज्ञासूर्य डॉ बाबासाहेब आंबेडकर जैसे महामानवों को कलाकृति के माध्यम से आदरांजली दी गई ।
इस ऑनलाइन जागृती सप्ताह कार्यक्रम को अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है ।

रवि आर्य