Published On : Sat, Oct 24th, 2020

जिलाधिकारी ठाकरे ने स्वीकारा सैकड़ों ट्रक रेती हो रही चोरी

Advertisement

– महाराष्ट्र वाहतूक सेना का शिष्टमंडल जिला कार्याध्यक्ष लालसिंह ठाकुर के नेतृत्व में अवैध रेती उत्खनन,परिवहन बंद करें अथवा न्यायालय जाने की चेतावनी दी

नागपुर : महाराष्ट्र वाहतूक सेना का शिष्टमंडल जिला कार्याध्यक्ष लालसिंह ठाकुर के नेतृत्व में कल शुक्रवार को नागपुर के जिलाधिकारी रविंद्र ठाकरे से मुलाकात कर सावनेर विधानसभा क्षेत्र में महीनों से चल रही अवैध रेती और ओवरलोड परिवहन बंद करवाने की मांग,इस मामले में 24 घंटे के भीतर ठोस कदम नहीं उठाया गया तो सोमवार को न्यायालय जाने की चेतावनी दी.इस पर जिलाधिकारी ठाकरे ने कहा कि निवेदन के अनुसार 1000 ट्रक-टिप्पर नहीं बल्कि 200 गाड़ी रेती चोरी हो रही.

Advertisement

ठाकुर की मांग को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने जिला राजस्व विभाग,खनन विभाग और पुलिस अधीक्षक को इस मामले में कड़क पहल करने के लिखित निर्देश दिए,जिसका असर भी घाटों के आसपास प्रमुख चौराहों पर रात में चौकी लगना शुरू होने की जानकारी मिली हैं.

ठाकुर द्वारा सौंपे गए निवेदन के अनुसार सावनेर,परशिवानी क्षेत्र अंतर्गत करजघाट,रायवाड़ी,रामडोंगरी रेत घाटों पर उत्खनन के पाबंदी के बावजूद तहसीलदार,आरटीओ,ग्रामीण पुलिस,यातायात पुलिस,हाईवे पुलिस के संरक्षण अवैध रेती उत्खनन सह ओवरलोड परिवहन खुलेआम जारी हैं.इससे NGTA सह सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की अवमानना हो रही साथ ही साथ नदी के साथ धोखा हो रहा,जिसका असर आसपास के गांवों पर पड़ेगा,इसके अलावा सरकारी राजस्व का नुकसान भी हो रहा.इसके अलावा जिला खनन विभाग नदी किनारे खेत से रेत निकलने की अनुमति दे रहा,जो कि ग़ैरकृत हैं.इस मामले पर जिला प्रशासन की चुप्पी समझ से परे हैं.उक्त मामलात पर आज कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया तो आगामी सोमवार को सरकारी संपत्ति के लूट को नज़रअंदाज करने के मामले में जिला प्रशासन नागपुर जिला के खिलाफ ,न्याय हेतु जनहित याचिका दायर करेंगे।

खासकर सावनेर तहसील के ३-४ रेती घाटों से रोजाना १००० एलपी,टिप्पर,ट्रक,ट्रैक्टर से अवैध रेती का परिवहन हो रहा,वहीं उक्त घाटों पर पोकलेन/जेसीबी से २४ घंटे रेती उत्खनन का क्रम खुलेआम जारी हैं. – करजघाट से रोजाना 400 के आसपास 10 से 15 हज़ार रुपये के हिसाब से टिप्पर और 3500 के हिसाब से ट्रैक्टर रेती बेची जा रही,इस गांव के चौराहे पर पुलिस कर्मी भी रेती की गाड़ियों के निकट दिखे।

खापा मंडी और पतिरामवाड़ी बस स्थानक के पास चोरी की रेत उत्खनन करने वाले और परिवहन करने वाले दिखाए गए।राजेन्द्र हाई स्कूल चौक पर रेती चोरों का जमावड़ा रहता हैं। मध्यप्रदेश के मालेगांव की रेती खापा रोड से नागपुर व अन्य जगह भेजी जाती,इसी मार्ग से टेम्बूरडोह,रायवाड़ी की अवैध रेती ओवरलोड परिवहन करते दिखी।

उल्लेखनीय यह हैं कि ठाकुर ने जिलाधिकारी रविंद्र ठाकरे से अंत में यह भी कहा था कि राज्य में हमारी सरकार हैं और सरकार के खिलाफ हम ‘जिंदाबाद,मुर्दाबाद’ करें या उचित नहीं,जिला प्रशासन ने देर की तो जिला प्रशासन के खिलाफ न्यायालय की शरण में जाकर सरकारी राजस्व लूट पर रोक लगाने की मांग करेंगे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement