Published On : Thu, Sep 20th, 2018

मनपा के सत्तापक्ष नेता की बेटी भी डेंगू की चपेट में

Dengue Mosquitoes

Representational Pic

नागपुर: महापौर के विदेश दौरे को लेकर कांग्रेस द्वारा मुख्यालय में किया गया हंगामा अभी शांत भी नहीं हो पाया था कि शाम को मनपा के सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी की पुत्री मानसी को भी डेंगू हो जाने की खबर फैलते ही मनपा प्रशासन में खलबली मच गई. हालांकि शहर में डेंगू की स्थिति, मनपा द्वारा किए जा रहे उपायों को लेकर स्वास्थ्य अधिकारी जयश्री थोटे से सम्पर्क करने का कई बार तो प्रयास किया गया, लेकिन वह भी असफल साबित हुआ.

मनपा के स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शहर भर में डेंगू का प्रकोप तो है, लेकिन स्थिति को गंभीरता से लिया जा रहा है. अब तक डेंगू के संभावित मरीजों को लेकर 1348 सैम्पल लिए गए हैं, जिनमें से 105 पाजिटिव पाए गए हैं. जानकारों के अनुसार सरकारी आंकड़ों की नियमित प्रक्रिया के कारण भले ही केवल 105 ही बाधित दिखाई दे रहे हो, लेकिन वास्तविक रूप में शहर के कई निजी अस्पतालों में भी कई मरीज इसी का इलाज करा रहे हैं. लेकिन मनपा का स्वास्थ्य विभाग निष्क्रिय होने के कारण उसके पास सटीक जानकारी नहीं है.

शहर में डेंगू के प्रकोप का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राज्य सरकार तक पहुंची इसकी आंच के चलते ही अब गुरुवार को मोहर्रम को लेकर मनपा में अवकाश होने के बावजूद सुबह 11 बजे नगर विकास राज्य मंत्री रणजीत पाटिल द्वारा डेंगू को लेकर बैठक ली जा रही है. सूत्रों के अनुसार एक ओर जहां मनपा की ओर से अलग-अलग हिस्सों में सफाई अभियान चलाए जाने का दावा किया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर डेंगू से बाधितों का आंकड़ा दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है. अब यह शहर तक सीमित न होकर आसपास के क्षेत्रों में भी फैलने के कारण पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले को भी बैठक लेकर कामठी नगर परिषद के स्वास्थ्य विभाग को कड़ी हिदायत देनी पड़ी.

इस संदर्भ में सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि निश्चित ही डेंगू से स्थिति गंभीर होती जा रही है. लेकिन राज्य सरकार और मनपा की ओर से उपायों को लेकर उचित कदम उठाए जा रहे हैं. पुत्री को हुए डेंगू के संदर्भ में उनका मानना था कि उसे प्रैक्टिस के लिए स्कूल के अलावा अन्य क्रीड़ा संकुल जाना पड़ता है. जिससे डेंगू की बाधा कहां हुई, यह कह पाना संभव नहीं है. उन्होंने बताया कि अब स्वास्थ्य विभाग की ओर से शहर की स्कूलों में भी विशेष अभियान चलाया जाएगा.