अतिक्रमण में रहनेवाले नागरिकों ने की घर पट्टे देने की मांग

Advertisement

नागपुर: वर्धा शहर के झोपड़पट्टी में रहनेवाले अतिक्रमण धारकों को जमीन के पट्टे देने की मांग मॉनसून सत्र के दूसरे दिन उठाई गई. गणेश टेकड़ी रोड पर नागरिकों ने धरना आंदोलन किया. जिसमें बड़ी तादाद में गरीब झोपडपट्टीधारक मौजूद थे. इनका कहना है कि यह लोग पिछले 30 से 40 वर्षों से वहां रह रहे हैं. परिस्थिति गंभीर होने के कारण वन विभाग की जमींन पर यह लोग रहने को मजबूर हैं.

हर बार चुनाव के समय नेताओं द्वारा इन्हें आश्वासन दिया जाता है. लेकिन अब तक इनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया. युवा संगठन के संस्थापक अध्यक्ष निहाल पांडे के नेतृत्व में यह प्रदर्शन किया गया. पांडे का कहना है कि 20 से 23 मार्च के दौरान वर्धा से नागपुर पैदल मोर्चा निकाला गया था.

Advertisement
Advertisement

जिसमें राज्य के मुख्यमंत्री ने अतिक्रमण धारकों को 3 महीने के भीतर पट्टे देने का आश्वसन दिया था.

लेकिन घर के पट्टे अभी तक नहीं मिले हैं. इन्होने मांग की है कि जल्द से जल्द और नि:शुल्क पट्टे दिए जाएं. साथ ही नागरिकों को पट्टे देने के बाद आवास योजना का भी लाभ देने की मांग की गई.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement