| |
Published On : Wed, Oct 17th, 2018

गलत पूर्वानुमान के लिए मौसम विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग

राष्ट्रीय जनसुराज्य पार्टी के माध्यम से किसानों ने की पुलिस आयुक्त से शिकायत

नागपुर: कई बार मौसम विभाग की गलत जानकारी के कारण किसानों का नुकसान तो होता ही है, साथ ही विभाग की विश्वसनीयता भी घटती है. ऐसा ही इस बार मौसम विभाग के गलत अनुमान के चलते किसानों की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है. इसीलिए सोमवार को किसानों के हितों के लिए लड़नेवाले राष्ट्रीय जनसुराज्य पार्टी के पदाधिकारियों और किसानों ने पुलिस आयुक्त भूषणकुमार उपाध्याय से मिलकर शिकायत की है.

उन्होंने मौसम विभाग के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है. मौसम विभाग ने 97 प्रतिशत बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया था, लेकिन केवल 91 प्रतिशत बारिश हुई है. इस वजह से किसानों की फसल बर्बाद हो गई. किसानों पर भूखे मरने की नौबत आ गई है. सोमवार को पार्टी के पदाधिकारियों के नेतृत्व में बड़ी संख्या में किसान सीपी आफिस पहुंचे. कुछ दिन पहले भी नागपुर के मौसम विभाग ने 2,4 अक्टूबर से लेकर 14 अक्टूबर के बीच भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी. लेकिन यह पूर्वानुमान भी झूठा साबित हुआ.

पार्टी द्वारा यह आरोप लगाया गया कि व्यापारियों को लाभ पहुंचाने के लिए मौसम विभाग ने यह काम किया है. मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार किसानों ने बुआई की थी, लेकिन फसल को नुकसान पहुंचा है. इस कारण पुलिस आयुक्त उपाध्याय से मिलकर संगठन ने शिकायत की है.

उपाध्याय ने इस मामले की जांच करवाने का आश्वासन दिया है. शिष्ट मंडल में पार्टी के अध्यक्ष राजेश काकड़े, चंद्रभान रामटेके, गणेश करडभाजने, ईश्वर अतकरे, श्रीकांत ठाकरे, अर्जुन राऊत, संजय अंबाडकर, विजय झंझाल, तानाजी करडभाजने, अजय शर्मा, जैनउल्ला शाह, शंकर बर्मन और शिव राऊत आदि उपस्थित थे.

Stay Updated : Download Our App