Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Mar 26th, 2018
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    ऑइल टैंक की सफ़ाई करने उतरे मजदुर की मौत, दो की मौत से जंग जारी

    नागपुर: ऑइलटैंक की सफ़ाई करने उतरे तीन मज़दूर प्रदूषित गैस की चपेट में आने से टैंक के भीतर गिर गए जिसमे से एक मजदुर की मौत हो गई। घटना कामठी रोड स्थित गोवर्धन एनर्जी और पेट्रोकेमिकल लिमिटेड कंपनी में सोमवार दोपहर हुई। शहर की यशोधरा नगर पुलिस के मुताबिक सोमवार को कंपनी के ऑइलटैंक की सफाई के लिए तीन सफ़ाई मजदुर टैंक में उतरे लेकिन प्रदूषित गैस की चपेट मे आने से तीनों को चक्कर आ गया। सबसे पहले टैंक में उतरा छोटू नामक मजदूर टायर फर्निश में इस्तेमाल में लाये जाने वाले ऑइल में डूब गया जिससे उसकी मौत हो गई। जबकि अन्य दो मजदुर हरिप्रसाद डेहड़िया और कृष्णकुमार धारिया को डूबने के बाद समय रहते टैंक से बाहर निकाल लिया गया। दोनों मजदूरों को कामठी रोड स्थित आशा नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है जहाँ उनका ईलाज जारी है लेकिन दोनों की हालत अब भी नाज़ुक बानी हुई है।

    मौके पर बचाव के लिए पहुँचे फ़ायर ब्रिगेड के अधिकारी चंदनखेड़े ने बताया की उन्हें घटना की जानकारी प्राप्त हुई जिसके बाद फ़ौरन वो कंपनी पहुँचे। वहाँ पहुँचने पर पता चला की टैंक के अंदर फंसे मजदुर प्रदूषित गैस के संपर्क में है। जो अपने दम पर टैंक के बाहर नहीं आ सकते। टैंक के भीतर खतरनाक गैस का रिसाव होने की वजह से उसमे फंसे मजदूरों को बाहर लाना चुनौतीपूर्ण काम था। इसलिए एक खास किस्म की उपाय योजना बनाकर तीनों मजदूरों को टैंक से बाहर लाया गया।

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक कंपनी प्रबंधन द्वारा शहर के पार्वतीनगर ईलाके में रहने वाले प्रकाश नारायण लिलारे को ऑइलटैंक की सफ़ाई का ठेका दिया गया था। उसी ने मध्यप्रदेश के शिवनी निवासी तीनो मजदूरों को काम में लगाया था। लेकिन इस काम के दौरान मजदूरों को जीवन रक्षण सामग्री उपलब्ध नहीं कराई गयी जिस वजह से यह हादसा हुआ और एक मजदुर को अपनी जान गवानी पड़ी। टैंक में उतरे मजदूरों को सुरक्षा के नाम पर सिर्फ रस्सी उपलब्ध कराई गयी थी और टैंक की सतह ऑइल से भरी हुई थी। घटना की सूचना मिलते ही यशोधरा नगर पुलिस थाने का दल कंपनी पहुँचा। फ़ौरन फ़ायरब्रिगेड और एम्बुलेंस को बुलाया गया। हादसे के बाद तत्परता की वजह से दो मजदूरों की जान बचाई जा सकी। इस घटना में लापरवाही बरते जाने को लेकर पुलिस ने कंपनी के मैनेजर और ठेकेदार के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 308 के तहत मामला दर्ज किया है।


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145