Published On : Thu, Sep 18th, 2014

मलकापुर : अदालत परिसर में आरोपी की मृत्यु


देशी कट्टा मामले में बुधवार को पकड़ा गया था

Malkapur Court
मलकापुर (बुलढाणा)। देशी कट्टा और मैगजीन के साथ कल पकड़े गए दो आरोपियों में से एक की आज अदालत में पेश करने के दौरान अदालत परिसर में ही मृत्यु हो गई. इससे शहर में खलबली मच गई है. यह घटना आज 18 सितंबर को दोपहर 3 बजे की है.

चक्कर आया, गिरा और मृत्यु हो गई
प्राप्त जानकारी के अनुसार बुलढाणा की अपराध शाखा के एक दल ने कल मलकापुर के सालीपुरा निवासी गंगासिंह झामसिंह राजपूत (35) व नटवरसिंह राजपूत (27) को देसी मेक देशी कट्टा और मैगजीन के साथ गिरफ्तार किया था. बाद में दोनों को मलकापुर पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया था. आज पुलिस जब दोनों को अदालत में पेश करने के लिए ले जा रही थी, तभी गंगासिंह राजपूत को अदालत परिसर में अचानक चक्कर आया और वह गिर पड़ा. वहीं उसकी मृत्यु हो गई.

पुलिस की पिटाई से मरा, परिजनों का आरोप
उसे उपजिला अस्पताल में ले जाया गया. गंगासिंह के परिजनों का आरोप है कि पुलिस कल गंगासिंह को पीटते हुए ले गई थी और आज अदालत लाते समय भी उसकी पिटाई की गई थी. इसी पिटाई के कारण उसकी जान गई है. शहर के नागरिकों ने भी अस्पताल में भारी भीड़ कर रखी थी. इससे तनाव की स्थिति बन गई थी. पुलिस ने अस्पताल में दंगाविरोधी बल के साथ ही भारी पैमाने पर पुलिस तैनात कर रखी थी.

परिजनों का शव लेने से इनकार
इस मौके पर मृतक के पंचनामे के लिए उपविभागीय अधिकारी दिनेश चंद्र वानखेड़े और तहसीलदार रविंद्र जोगी को बुलाया गया. इस बीच गंगासिंह के परिजनों ने शब को लेने से इनकार कर दिया. विधायक चैनसुख संचेती, कांग्रेस के नेता शिवचंद्र तायड़े, अधि. हरीश रावल, कांग्रेस नेता राजू पाटिल, अनिल गांधी, मनसे के जिला उपाध्यक्ष गजानन ठोसर आदि भी अस्पताल पहुंचे और हालात का जायजा लिया.

अफवाहों का बाजार गर्म
गंगासिंह की मृत्यु हो लेकर अफवाहों का बाजार गर्म है. लेकिन अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि आखिर गंगासिंह की मृत्यु कैसे हुई. पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद ही कुछ पता चल सकेगा.