Published On : Fri, Dec 21st, 2018

पहले पिता और अब डीसीपी के भाई की कार फोड़ी

नागपुर. कार की टक्कर लगने के बाद हुए विवाद में 5 युवकों ने डीसीपी के भाई से हाथापायी की. कार के कांच फोड़ दिए. सोने की चेन और रुपये लेकर भाग निकले. पुलिस ने खरे टाउन, धरमपेठ निवासी कपिल रविचंद्र मासिरकर (31) की शिकायत पर मामला दर्ज किया है. कपिल शहर की क्राइम ब्रांच में काम कर चुकी डीसीपी दीपाली मासिरकर के भाई हैं. फिलहाल मासिरकर मुंबई में पोस्टेड हैं. बुधवार की रात 1.10 बजे के दौरान कपिल कुछ काम निपटाकर हिंगना रोड से घर लौट रहे थे. एसआरपीएफ गेट क्र. 1 के पास उनकी गाड़ी कार क्र. एम.एच. 20-बी.वाई. 6229 से टकरा गई. कार में 5 युवक सवार थे. टक्कर लगने के बाद आरोपी कपिल से विवाद करने लगे.

कपिल ने उन्हें गाड़ी दुरुस्त कर दूंगा कहा लेकिन आरोपी युवकों ने एक नहीं सुनी. आरोपी हाथापायी पर उतर आए. इसी दौरान कपिल की 75,000 रुपये की सोने की चेन गिर गई. आरोपियों में से एक ने चुपके से चेन उठाकर जेब में डाल ली. गाड़ी में रखे 1000 रुपये नकद और चाबी भी निकाल ली. जाते समय आरोपियों ने कपिल की कार के कांच फोड़ दिए. कपिल ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. एमआईडीसी पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है. सीसीटीवी में वाकया कैद हुआ है. गाड़ी के नंबर के आधार पर आरोपियों का पता लगाया जा रहा है.

डेढ़ वर्ष पहले पिता को भी लूटा

डेढ़ वर्ष पहले डीसीपी मासिरकर नागपुर के परिमंडल 1 में कार्यरत थीं. इसी दौरान उनके पिता रविचंद्र को भी लूटा गया था. 22 मार्च 2017 को रविचंद्र सिविल लाइन्स की आईसीआईसीआई बैंक से पैसे निकालकर मोपेड पर घर जा रहे थे. जिला न्यायालय से वीसीए मैदान की तरफ जाते समय बाइक पर सवार 2 युवकों ने उन्हें गाड़ी का टायर पंक्चर होने का झांसा देकर डेढ़ लाख रुपये उड़ा लिए थे. अब तक इस मामले में आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए हैं.