Published On : Tue, Sep 17th, 2019

दयानंद आर्य कन्या महाविद्यालय में हिंदी दिवस

नागपुर: दयानंद आर्य कन्या महाविद्यालय, जरीपटका में हिंदी दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ वंदना खुशलानी मैडम ने की। इस अवसर पर बतौर प्रमुख अथिति दैनिक राष्ट्रप्रकाश के कार्यकारी संपादक व वरिष्ठ कवि सुदर्शन चक्रधर, महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ श्रद्धा अनिलकुमार, राजेन्द्र शुक्ला सर प्रमुखता से उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुवात दीप प्रज्ज्वलन व प्रार्थना से हुई।

इस अवसर पर प्रमुख अतिथि सुदर्शन चक्रधर ने अपने विचार प्रगट करते हुए कहा कि हिंदी का प्रचार प्रसार अपने घर से ही होना चाहिए। बचपन से ही हिंदी लिखने पढ़ने की आदत बच्चो में मुखरित करनी चाहिए। सभी कार्यालयों में अभी हिंदी को बढ़ाने के लिए हिंदी के स्वतंत्र विभाग बनाये है।

कार्यक्रम की अध्यक्षा डॉ वंदना खुशलानी मैडम ने कहा कि राष्ट्रभाषा का प्रयोग सभी ने करना चाहिए। रोजगार में भी हिंदी उपयोगी है। बाहरी देशों में हम देखते है कि वे अपनी एक भाषा का प्रयोग करते है। हमारे देश मे अनेक भाषाएं है, लेकिन हिंदी सर्वमान्य भाषा है और उसे राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला है। ऐसे में हमे अपने व्यवहार में हिंदी का उपयोग करना चाहिए।

हिंदी दिवस के अवसर पर महाविद्यालय में विभिन्न स्पर्धाओं का आयोजन किया गया। जिसमें स्वयं लिखित कविता, स्लोगन व शुद्धलेखन प्रतियोगिता ली गई। छात्राओं ने इसमें बड़ी संख्या में भाग लिया। इस अवसर पर फणीश्वरनाथ रेणु की कहानी “पंचलाइट” पर एक नाटक का मंचन किया गया।

नाटक का संयोजन राजेन्द्र शुक्ला सर ने किया। कार्यक्रम का संचालन व प्रस्ताविक डॉ युगेश्वरी प्रवीण डबली व आभार प्रदर्शन डॉ नीलम वीरानी ने किया। कार्यक्रम के सफलतार्थ संस्था की सचिव दीपा लालवानी के मार्गदर्शन में डॉ भावना कलसुले, प्रा. सुस्मिता सहित महाविद्यालय की सभी प्राध्यापिकाये व शिक्षकेत्तर कर्मचारीवृन्द ने सहयोग किया।