Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Nagpur City No 1 eNewspaper : Nagpur Today

| | Contact: 8407908145 |
Published On : Tue, Mar 26th, 2019

न्यूज पेपर हॉकर्स को लूटने वाली गैंग का पर्दाफाश

नागपुर: शहर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सुबह के समय समाचार पत्र बेचने वाले और टहलने के लिए निकले नागरिकों से लूटने वाली 3 गैंग का पर्दाफाश किया. गैंग के 11 सदस्यों को गिरफ्तार किया. खास बात है कि इनमें से 9 आरोपी नाबालिग है. अन्य 2 आरोपियों में श्रीकृष्णनगर, नंदनवन निवासी अमल अशोक खरात (१९) और श्रीनगर, मानेवाड़ा रोड निवासी मिलींद प्रेम हिराणी (१९) शामिल है. इस प्रकार क्राइम ब्रांच ने एक ही साथ 10 केसों को भी सुलझा लिया. इनमें लूटपाट, वाहन चोरी, मंदिर में चोरी के अलावा बौद्ध विहार में चोरी आदि मामले शामिल हैं. आरोपियों से 3 मोटर साइकिल, वारदातों में उपयोग की 2 बाइक, चोरी किये अन्य सामान समेत कुल 1,40,800 रुपये का माल जब्त किया गया. यह जानकारी डीसीपी नीलेश भरणे ने दी.

गर्लफ्रेड, हुक्के पर उड़ाते के पैसा
डीसीपी भरणे ने बताया कि कुछ नाबालिग आरोपियों को सिगरेट, हुक्का जैसी नशे की लत लगी हुई है. इसके लिए उन्हें हमेशा पैसों की जरूरत रहती थी. वहीं, गर्लफ्रेंड को भी खुश रखने का इम्प्रेशन बनाकर पैसे खर्च करते थे. इन सब खर्चों को पूरा करने के लिए उन्होंने चोरी का रास्ता चुना. एक आरोपी ने अपनी गर्लफ्रेंड को चोरी की रकम से महंगी घड़ी गिफ्ट की थी.

कोडवर्ड था ‘नाईट पेट्रोलिंग’
सभी चोर बड़े ही शातिर तरीके से वारदात को अंजाम देने निकलते थे. इनका कोडवर्ड था नाइट पेट्रोलिंग. चोरी के लिए निकलने से पहले ये एकदूसरे को कॉल करके यही कोडवर्ड बोलते थे कि आज नाइट पेट्रोलिंग करना है. इसके बाद रात को मोपेड पर निकलकर रातभर घुमते थे. खास बात है कि रातभर गाड़ी चलाने के लिए वे पेट्रोल भी चुराया करते थे. मंदिर के सामने यदि कई दोपहिया वाहन मिले तो दान पेटी चुराकर रातभर घुमते थे. इतना ही नहीं, चोरी के बाद ये दोपहिया वाहन मंदिर के सामने छोड़ दिया करते थे.

तीसरा आरोपी जेल में
डीसीपी भरणे ने बताया कि गैंग के तीसरा बालिग आरोपी करण गाडगिलवार (१९) पहले ही जेल में है. बुटीबोरी में की गई एक वारदात में उसे न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. जबकि बाकी नाबालिग आरोपियों को सुधार गृह भेज गया है. उन्होंने बताया कि ये आरोपी पिछले कुछ महीनों से देर रात 2 से सुबह 5 बजे के बीच लूट और चोरी का अंजाम देते थे. कुछ दिन पहले उन्होंने एक न्यूज पेपर हाकर को भी लूटा था. इस बारे में जिला समाचार पत्र संगठन की ओर से शहर पुलिस आयुक्त डा. भारत भूषण उपाध्याय से त्वरित कार्रवाई की मांग भी की गई थी.

CCTV कैमरों ने की मदद
इसके बाद सीपी डा. उपाध्याय के निर्देश पर इस मामले में कार्रवाई तेज की गई. तुरंत धंतोली, अजनी और बेलतरोडी परिसर के सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग जांची गई. बारिकी से अध्ययन करने पर 3 अलग-अलग गैंग होने का पता चला. गैंग में अधिकांश लड़के नाबालिग हैं जिन्होंने 10 वारदातों की बात कबूली. इनमें मंदिर में चोरी की 6, दोपहिया वाहन की 3 और जबरन चोरी की 1 वारदात शामिल हैं. उक्त कार्रवाई डीसीपी भरणे के मार्गदर्शन में पीआई संतोष खांडेकर, एपीआई प्रशांत चौगुले, गोरख कुंभार, वसंत चौरे, देवीप्रसाद दुबे, राजेंद्र सेंगर, सुनील चौधरी, आशीष ठाकरे, अमित पात्रे, मनीष पराये, सुशील श्रीवास, राहुल इंगोले और मंगेश मडावी द्वारा पूरी की गई.

Stay Updated : Download Our App
Mo. 8407908145