Published On : Mon, Sep 3rd, 2018

अपराधों पर नकेल कसने रडार पर हिस्ट्री शीटर

नागपुर: अपराधियों पर नकेल कसने के लिए पुलिस कमिश्नर भूषणकुमार उपाध्याय ने आपरेशन क्रैक डाउन शुरू किया. कोई भी अपराधी पुलिस की नजर से नहीं बच पाए इसके लिए शहर में जितने भी हिस्ट्री शीटर है सभी की जांच इस आपरेशन के माध्यम से की जा रही है. 6 दिन के भीतर ही पुलिस ने शहर के 2222 अपराधियों की जांच की.

पुलिस की इस कार्रवाई से शहर के अपराधियों में खलबली मच गई है. पिछले दिनों शहर में हुई आपराधिक वारदातों में हिस्ट्री शीटर्स की सहभागिता दिखाई दी. इसीलिए सीपी उपाध्याय ने अपराधियों पर नकेल कसने के लिए 27 अगस्त से आपरेशन क्रैक डाउन शुरू करने का निर्णय लिया. शहर के सभी पुलिस स्टेशन और क्राइम ब्रांच को अपने एरिया के क्रिमिनल की जांच करने को कहा.

उन पर कितने मामले दर्ज है. आखरी मामला कब दर्ज हुआ था. अब वे क्या कर रहे हैं. यदि उनका किसी क्रिमिनल एक्टिवी में हाथ हो तो प्रतिबंधक कार्रवाई करने के निर्देश दिए. 6 दिनों से लगातार पुलिस अपराधियों के पीछे लगी हुई है.

613 पर लिया गया एक्शन
आर्म्स एक्ट के मामलों में पकड़े गए 353, हत्या, हत्या का प्रयास और मारपीट जैसे मामलों में लिप्त 1018, चोरी, लूटपाट और चेन स्नैचिंग सहित संपत्ति से जुड़े अपराधों में शामिल 836 और नशीले पदार्थ बेचने वाले 15 ऐसे कुल 2222 अपराधियों को थाने और क्राइम ब्रांच बुलाकर पूछताछ की गई.

आर्म्स एक्ट के केस में 19, एनडीपीएस के 2 अपराधियों पर प्रतिबंधक कार्रवाई की गई.
61 लोगों पर 109, 149 लोगों पर 110 और 380 अपराधियों को सीआरपीसी की धारा 149 के तहत नोटिस जारी किए गए. इसी के साथ उन्हें चेतावनी भी दी जा रही है.

यदि इसके बाद कोई आपराधिक गतिविधि करता दिखाई दिया तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. पुलिस की लगातार कार्रवाई होने से कई अपराधी शहर छोड़ रहे हैं. 15 दिनों तक पुलिस का यह आपरेशन चलता रहेगा.