Published On : Wed, Sep 30th, 2020

रामकाज को सही करार दिया कोर्ट ने, ऐतिहासिक निर्णय : आ.कृष्णा खोपडे

Advertisement

नागपूर : बाबरी विध्वंस के 28 साल के बाद न्यायालय ने आखिरकार रामकाज को सही करार देते हुए ऐतिहासिक फैसला सुनाया.देर से ही सही, लेकीन बिलकुल सटीक फैसला सुनाया गया I आडवाणी, उमा भारती, कल्याणसिंह, साध्वी ऋतंभरा, विनय कटियार, नृत्य गोपालदास महाराज सहित अयोध्या के 32 योद्धाओ को कोर्ट ने आज निर्दोष करार दिया. एक ऐसा देश जहा बहुसंख्याक हिंदू है, ऐसे में हिंदूओ की आस्था और श्रद्धा के अनुरूप कार्य करना कोई गुनाह नही I यह बात इस फैसले से साबित हुई है.

आदरणीय आडवाणीजी के रथयात्रा का सफल अंजाम तो राम मंदिर के भूमिपूजन के साथ ही पुरा हो गया था I लेकीन कोर्ट के फैसले से उनकी रथयात्रा एक सही कदम था ऐसा प्रतीत होता है.

Advertisement
Advertisement

बाबरी विध्वंस के बाद अशोकजी सिंघल जैसे अयोध्या के जो योद्धा काल के गाल में समा गये, उनकी आत्मा भी कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले से प्रसन्न होगी I उसी प्रकार जो 32 योद्धा जिन्हे आज निर्दोष करार दिया गया, उन्हे भी रामकाज के सफल होने की ख़ुशी महसूस हो रही होगी I कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते है.

यह फैसला सुनाने के तुरंत बाद सेवानिवृत्त हुए न्यायाधीश एस.के.यादव को भी इस ऐतिहासिक फैसले पर गर्व तथा सुकून महसूस हो रहा होगा I पूर्व नागपूर भा.ज.पा. ने इस अवसर पर सतरंजीपुरा चौक पर जश्न मनाया I

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement