Published On : Fri, May 24th, 2019

मतगणना केंद्र में रात भर डटे रहे कर्मचारियों के साथ जिलाधिकारी अश्विन मुदगल

नागपुर: मतगणना को लेकर अनुमान था कि नागपुर का १९ और रामटेक का २४ राउंड होने के कारण देर रात तक ही परिणाम आएंगे. ईवीएम की काउंटिंग से परिणाम तो आधी के रात लगभग १.३० बजे बाद तक आ गए, लेकिन उसके बाद वीवीपैट की पर्चियों की काउंटिंग में स्टाफ जुट गया. खुद चुनाव अधिकारी व जिलाधिकारी अश्विन मुदगल अपने सभी सहयोगियों के साथ रात भर जुटे रहे. वहीं सभी पार्टी के प्रतिनिधि भी काउंटिंग स्थल में डटे रहे. ईवीएम के हर राउंड में करीब 50 मिनट का समय लगा.

उल्लेखनीय है कि नागपुर लोस सीट की काउंटिंग के फाइनल राउंड को ही रात करीब 1 बज गए. नागपुर सीट में 19 राउंड में काउंटिंग किया जाना था. रात 12 बजे के करीब 18वें राउंड की काउंटिंग पूरी की गई थी. दरअसल हर राउंड के लिए कम से कम एक घंटे का समय लग रहा था. सुबह 8 बजे पहले पोस्टल बैलेट की काउंटिंग हुई. उसके बाद करीब 8.30 बजे से ईवीएम की काउंटिंग शुरू की गई.

ईवीएम मशीनों की सभी फेरियों की काउंटिंग के बाद ही वीवीपैट मशीनों की लाटरी निकालकर 5 वीवीपैट का चयन किया जाना था. फिर एक-एक वीवीपैट की पर्चियों की गिनती कर उसका उस ईवीएम की वोटों की काउंटिंग से मिलान करना था. यह चुनाव आयोग के निर्देशानुसार ही किया जाना था. 19 राउंड की काउंटिंग में रात के 1 बजे गए. उसके बाद वीवीपैट मशीनों की पर्चियों की गिनती शुरू की गई. इसके लिए पहले 5 वीवीपैट की लाटरी निकाली गई. एक वीवीपैट की काउंटिंग में 1 से सवा घंटे का समय लगा जिसके चलते सुबह तक काउंटिंग चलती रही.