Published On : Sat, Apr 17th, 2021

कोरोना : कड़क पाबंदी पुलिस प्रशासन के लिये बना सरदर्द

सावनेर – महाराष्ट्र सरकार द्वारा लगाए गए कड़क निर्बंध तथा (ब्रेक दी चेन) में कई खामियाजा का भुगतमन पुलिस प्रशासन को करना पड़ रहा है। सरकार द्वारा दिये गए अतिआवश्यक सेवाओं के नाम पर छूट का गलत फायदा आम लोग उठा रहे है जिसके चलते पुलिस प्रशासन को समझने में बड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है । लापरवाह लोग आपने घरो से हाथ मे थैला लिए किराणा ,बेकरी ,दूध ,सब्जिया ,फलों के नाम पर तो कोई हॉस्पिटल के पूरानी पर्चियां लेकर दवाइयों के नाम पर बाहर निकल रहे है । सावनेर में ज्यादातर भीड़ किराणा ,बेकरी , सब्जिया, फलों की दुकान ने आसानी से देखने मिल रही है । महाराष्ट्र सरकार द्वारा बनाये गए कड़क निर्बंध के नियमों में खामियाजा के चलते कुछ लोग इसका गलत फायदा उठा रहे है ।

अतिआवश्यक सेवाओं के नाम पर लोग घरों से बाहर निकलने लगे है ,जिसके चलते पुलिस को समझाने में बड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है ।
कोरोना वायरस को लेकर महाराष्ट्र सरकार जितनी गंभीर है, शायद लोग नहीं हैं. सावनेर शहर के ज्यादातर पढ़े-लिखे लोग, पुलिस के लिए बड़ी मुसीबत बनकर सामने आ रहे हैं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कड़क निर्बंध (लॉकडाउन) का आदेश दिया साथ ही महाराष्ट्र में धारा 144 लगा दी गई है. इसके बावजूद अधिक्तर लोग कोई न कोई बहाना कर बाहर निकल रहे है ,क्योंकि सरकार द्वारा दी गई अतिआवश्यक सेवाओं के नाम पर छूट के चलते अधिकतर लोग इसका गलत फ़ायदा उठा रहे है, कुछ लोग तो ऐसे हैं जो बिना किसी काम के ही आम दिनों की तरह गाड़ी लेकर सड़क पर निकल रहे हैं. पुलिस कुछ लोगों से हाथ जोड़कर वापस जाने की अपील कर रही है। वही बेवजह घूमने वालो पर कार्यवाही भी कर रही है।

– दिनेश दमाहे,सावनेर