Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Mar 27th, 2015
    Vidarbha Today | By Nagpur Today Vidarbha Today

    अकोला : जिले के 175 जलस्त्रोतों का पानी दूषित


    ब्लिचिंग पाउडर के छिडकाव के निर्देश

    अकोला। अकोला जिले में प्रति माह जलस्त्रोत से पानी के नमूने लेकर उनकी जांच की जाती है, लेकिन अकोला तहसील में नियमित रूप से जलस्त्रोतों के नमूने दूषित पाए जा रहे है. इसे देखते हुए ब्लिचिंग पाउडर की गुणवत्ता जांचने और जलस्त्रोतों में नियमित छिडकाव करने के निर्देश जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम. देवेंदर सिंह ने दिए हैं. अकोला जिला परिषद अंतर्गत 829 गांवों के जलध्Eाोतों के जलनमूने लेकर उनकी जांच प्रयोगशाला के माध्यम से करवाने का कार्य जलसुरक्षक करते हैं, किंतु दिन ब दिन जलस्त्रोतों से जलनमूने लेने का प्रमाण भी कम होता दिखाई दे रहा है. अकोला जिले में फरवरी माह में 887 जलस्त्रोतों के नमूने जांच गए, जिसमें से 175 जलस्त्रोतों के नमूने दूषित पाए गए. इसी प्रकार 27 गांवों में ब्लिचिंग पाउडर का इस्तेमाल नदारद दिखाई दिया.

    उल्लेखनीय है कि अकोला तहसील में नियमित तौर पर अधिक से अधिक जलस्त्रोतों के नमूने दुषित पाए जा रहे है. वहीं ब्लिचिंग पाउडर के नमूने भी गुणवत्तापूर्ण न होने की बात सामने आई है. अधिकतर गांवों में ब्लिचिंग पाउडर में उपलब्ध क्लोरिन का प्रमाण 20 प्रतिशत से कम पाया गया है. वहीं कई गांवों में ब्लिचिंग पाउडर ही उपलब्ध नहीं है. जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में ब्लिचिंग पाउडर द्वारा शुद्ध किया गए पानी की आपूर्ति होना आवश्यक है, ऐसा न होने पर जलजन्य बीमारियों का सामना करना पड सकता है. इस स्थिति को देखते हुए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम. देवेंदर सिंह ने गुणवत्तापूर्ण ब्लिचिंग पाउडर का छिडकाव कर पानी शुद्ध करने के निर्देश संबंधित ग्राम पंचायतों को दिए हैं.

    अकोला तहसील के 171 गांवों में 177 जलस्त्रोतों के नमूने लिए गए, जिसमें से 68 जलस्त्रोतों के नमूने दूषित पाए गए तथा 10 गांवों में ब्लिचिंग पाउडर का अभाव नजर आया. इसी प्रकार बार्शिटाकली तहसील के 119 गांवो में से 160 जलस्त्रोतों के नमूने लिए गए, जिसमें से 27 दुषित रहे. अकोट तहसील में 137 गांवों के जलस्त्रोतों के नमूनों में से 27 दूषित पाए गए. तेल्हारा तहसील के 91 गांवों के 108 जलस्त्रोतों में से 21 के नमूने दूषित रहे. बालापुर तहसील के 86 गांवो के 98 जलस्त्रोतों के नमूने लिए गए, जिसमें से 10 दूषित तथा 14  ब्लिचिंग पाउडर से दूर नजर आए. पातूर तहसील के 81 गांवों में 106 जलस्त्रोतों के नमूने जांचे गए, जिसमें से 14 दूषित रहे. इसी प्रकार मूर्तिजापुर तहसील के 144 गांवों के 144 जलस्त्रोतों में से सिर्फ 8 के नमूने दूषित पाए गए.

    Water tank

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145