Published On : Mon, Nov 28th, 2016

नोट बंदी के विरोध में काँग्रेस जबकि समर्थन में बीजेपी ने किया प्रदर्शन

Advertisement

nitin-raut-arrested

नागपुर: नोटबंदी के विरोध में शहर काँग्रेस ने नागपुर में विरोध प्रदर्शन किया। पार्टी ने जनआक्रोश दिन मानते हुए शहर के रास्तों पर प्रदर्शन किया। शहर काँग्रेस द्वारा जनता की बात सरकार तक पहुँचाने के लिए निकाले गए पैदल मार्च में सैकड़ो की संख्या में नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए। जीरो माइल चौक से शुरू हुआ आंदोलन व्हेरायटी चौक, सीताबर्डी मार्केट, लोहापुल, शनीमंदर कल्पना टॉकीज, जानकी टॉकीज, महाराष्ट्र बैंक चौक, झांसी रानी चौक होता हुआ व्हेरायटी चौक पर ख़त्म हुआ। इस मार्च के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए भीख माँगो आंदोलन भी किया। इस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री विलास मुत्तेमवार ने सरकार पर हमला बोलते हुए 500 और 1000 की नोट को बंद किये जाने का फैसला जल्द बाजी में लिया गया फैसला बताया। मुत्तेमवार के मुताबिक यह फैसला जनता के जख्मो पर नमक छिडकने जैसा है। जनता इस फैसलें को कभी स्वीकार नहीं कर सकती इसलिए सड़क पर उतर रही है। बहुत जल्द जनता सरकार को सबक सिखाएगी।

इस प्रदर्शन के दौरान अभिजीत वंजारी, पूर्व मंत्री अनिस अहमद, उमाकांत अग्निहोत्री, विकास ठाकरे ने कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया। वही प्रशांत धवड, दीपक कापसे, अभिजीत वंजारी, अतुल कोटेचा, पंकज निघोट, संदेश सिंगलकर के साथ अन्य पदाधिकारियो ने आंदोलन में भाग लिया। काँग्रेस के इस प्रदर्शन में बहुजन समाज पार्टी ने भी समर्थन दिया।

Advertisement
Advertisement

यह आंदोलन भले ही केंद्र सरकार के खिलाफ हो और अपना मत जनता तक पहुँचाने के लिए हो पर शहर काँग्रेस का आपसी मनमुटाव विरोधियो से लोहा लेने के लिए किये जा रहे आंदोलन में भी साफ दिखा ,शहर काँग्रेस के आंदोलन में पूर्व मंत्री डॉ नितिन राउत ने भाग नहीं लिया। उन्होंने पार्टी के प्रदर्शन से हटकर न सिर्फ प्रदर्शन किया बल्कि गिरफ़्तारी भी दी।

bjp-abhinandan-rally-2
काँग्रेस ने जहाँ नोट बंदी के खिलाफ प्रदर्शन किया वही इसके उत्तर के रूप में भाजपा व्यापारी अघाड़ी ने समर्थन में प्रदर्शन किया। इतवारी इलाके में पार्टी कार्यकर्त्ता इकट्ठा हुए और आम लोगो को गुलाब का फूल भेट कर सरकार के फैसले को अपना समर्थन जारी किया। बीजेपी ने धन्यवाद रैली निकालकर आम नागरिक और दुकानदारो को फूल भेट किये।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement