Published On : Wed, Feb 8th, 2017

काँग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के पास ही पार्टी का अधिकृत चुनाव चिन्ह नहीं

Advertisement
Congress

Representational Pic


नागपुर :
 आगामी महानगर पालिका चुनाव में प्रभाग 9 का चुनाव दिलचस्प होने वाला है। दरअसल यहाँ से काँग्रेस के 5 उम्मीदवार चुनाव मैदान में होंगे। चार जनप्रतिनिधि के एक प्रभाग में एक पार्टी के पांच उम्मीदवार होने से यहाँ के मतदाता भी पशोपेश में पड़ सकते हैं। प्रभाग 9 में कांग्रेस पार्टी के चिन्ह पर चार उम्मीदवार मैदान में हैं जबकि एक उम्मीदवार समर्थन में चुनाव लड़ने वाला है।

मनपा चुनाव के लिए काँग्रेस द्वारा तैयार गठबंधन में पूर्व महापौर अटल बहादुर सिंह की पार्टी लोकमंच भी शामिल है। तय मापदंड के मुताबिक गठबंधन में लोकमंच को हासिल 10 सीटों पर उनके प्रत्याशी भी काँग्रेस के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ेंगे। लोकमंच को प्रभाग 9 में चार में से तीन सीट मिली है। लेकिन पार्टी के दो उम्मीदवार ही पंजा चुनाव चिन्ह के साथ चुनाव लड़ेंगे जबकि एक उम्मीदवार पंखा चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ेगा। पार्टी ने लोकमंच के इन्हीं तीन उम्मीदवारों को अधिकृत करते हुए इन्हें ही बी फॉर्म दिया। लेकिन इन तीन उम्मीदवारों के अलावा किशोर जिचकार नामक उम्मीदवार ने भी काँग्रेस पार्टी का बी फॉर्म चुनाव आयोग को जमा कराया। चूँकि जिचकार ने लोकमंच के विमिल चौरासिया से पहले अपना फॉर्म भरा जिस वजह से काँग्रेस पार्टी का अधिकृत चुनाव चिन्ह अब किशोर जिचकार के पास होगा।

जिस दिन काँग्रेस पार्टी ने उम्मीदवारों को बी फॉर्म बांटे थे उस दिन भी ज्यादा फॉर्म बाँटे जाने की बात उजागर हुई थी तब काँग्रेस के शहराध्यक्ष ने इसे सामान्य बात करार दिया था। मगर अब ज्यादा बी फॉर्म का बंट जाना पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है। लोकमंच के नेता और इसी प्रभाग से चुनाव लड़ रहे बब्बी बाबा ने काँग्रेस पार्टी के विधायक सुनील केदार पर पार्टी के खिलाफ जाकर किशोर जिचकार को बी फॉर्म उपलब्ध करा कर देने का आरोप लगाया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement