Published On : Thu, Jul 11th, 2019

कांग्रेस ऐसा जहाज जिसका कप्तान पहले ही छलांग लगा चूका है – पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान

नागपुर: लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह की रणनीति और कार्यकर्ताओ के बल पर जीते है. लेकिन फिर भी भाजपा को संतोष नहीं हुआ है. क्योकि अभी पार्टी का सर्वाच्च समय आने का है. जिन राज्यों में सरकार नहीं है वहांपर भी सरकार बनाना है. पार्टी जीत के जश्न में न डूबकर विस्तार के लिए प्रयासरत है.

इसलिए नए सदस्य्ता अभियान की शुरुवात भारतीय जनता पार्टी ने की है. यह कहना है मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का. वे गुरुवार को नागपुर पहुंचे. जहां उन्होंने पत्र परिषद् में पत्रकारों से चर्चा की. इस दौरान चौहान ने कहा की नए सदस्यों को पार्टी में शामिल कर देश का विकास करना है. उन्होंने कहा की कांग्रेस बिखरी हुई पार्टी है. उनके अध्यक्ष का पता नहीं है. लेकिन हमारे अध्यक्ष भी काम में जुटे है.

चौहान ने कांग्रेस पर टिपण्णी करते हुए कहा की कांग्रेस ऐसा जहाज है, जिसका कप्तान पहले ही जहाज से छलांग लगा चूका है. कांग्रेस ने महात्मा गांधी की भी बात नहीं मानी. उन्होंने कहा था की आजादी मिलने के बाद कांग्रेस पार्टी को भंग कर दो. असली कांग्रेस की बात नकली कांग्रेस नहीं मान रही है. कांग्रेस अब मरणसन्न अवस्था में है. उन्होंने कर्नाटक में सरकार में चल रहे विवाद पर कहा की कांग्रेस और जेडीएस का गठबंधन विचारों का नहीं है. सरकार बहुमत खो चुकी है. उन्होंने कहा की हम कही की भी सरकार नहीं गिरा रहे है. अगर वे अपने बोझ से गिर जाए तो वे क्या कर सकते है. जिन लोगों से पार्टी नहीं संभल रही है. वे देश क्या संभालेंगे.

उन्होंने कहा की समाज के हर वर्ग डॉक्टर,पेशेवर, खिलाड़ी, कलाकार सभी को इस सदस्य्ता अभियान से जोड़ेंगे. हर बूथ पर 200 सदस्य बनाएंगे. हर जगह संघटन का विस्तार करेंगे. उन्होंने कहा की सदयस्ता का 6 करोड़ का टारगेट रखा गया है. लेकिन 10 करोड़ से ज्यादा सदस्य बनने की संभावना है.

इस पत्र परिषद् में विधायक गिरीश व्यास, अनिल सोले, अजय संचेती, विधायक कृष्णा खोपड़े, विकास कुंभारे, शहराध्यक्ष प्रवीण दटके, डॉ. मिलिंद माने, महापौर नंदा जिचकार,उपमहापौर दीपराज पार्डीकर, स्थायी समिति अध्यक्ष प्रदीप पोहाने समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे.