Published On : Wed, May 26th, 2021

अधूरे सीमेंट रोड का कार्य पूरा करें -बसपा प्रतिनिधिमंडल ने सौंपा ज्ञापन

नागपुर: वार्ड 32 में मानेवाडा रोड स्थित सिद्देश्वर सभागृह से जादुमहल चौक तक सावित्रीबाई फुले मार्ग सिमेंट रोड का निर्माण कार्य को सन 2017-2018 के दौरान मंज़ूरी मिली थी. लेकिन अभी तक इस बेहद व्यस्त सड़क का कार्य पूरा नहीं हो पाया है. यह सड़क वेलेकर नगर लेआउट, सावित्रीबाई फुले नगर, बजरंग नगर, न्यू कैलाश नगर, शिवराज नगर की मुख्य सड़क है. यह चंद्रमणि शहर से गुज़रने वाली एकमात्र सड़क भी है. इस सड़क पर वंजारी नगर पानी टंकी से पानी ले जाने वाले बड़े टैंकर और एंबुलेंस का नियमित यातायात होता है. इस सड़क पर चार औषधालय और कई खुदरा दुकानें भी हैं. इसलिए यह एक बेहद व्यस्त सड़क हैं. अतः पिछले डेढ़-दो साल से निर्माण कार्य अधूरा होने के कारण स्थानीय नागरिक बेहद परेशान हैं.

शुरुआत में इस सड़क का निर्माण बड़ी मशक्कत के साथ शुरू किया गया था लेकिन ठेकेदार ने इस सड़क का निर्माण आधा छोड़कर जादूमहल चौक से राजकमल चौक तक नई सड़क का काम शुरू कर दिया है. आधे अधूरी निर्माण के कारण इस सड़क पर अक्सर हादसे होते रहते हैं. इसी तरह के एक हादसे में चंद्रमणि नगर निवासी एक युवक की मौत हो गई. नागरिकों में अभी भी कई लोगों के मारे जाने का भय है. कुछ जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों की लापरवाही से स्थानीय नागरिकों और दुकानदारों में काफ़ी आक्रोश है. आने वाले कुछ दिनों में बरसात के मौसम का आगमन होगा. अक्सर इस सड़क पर बहुत पानी जमा हो जाता है. यदि काम ऐसे ही अधूरा रहा तो लोगों को बहुत विकट स्थिति का सामना करना पड़ेगा.

इस महत्त्वपूर्ण सिमेंट रोड की ओर सरकार और प्रशासन के अधिकारीयों द्वारा पर्याप्त ध्यान न देने का आरोप आरोप बसपा के प्रदेश सचिव उत्तम शेवडे और क्रांतीज्योती सावित्रीबाई फुले बुद्ध विहार समिती, सावित्रीबाई फुले नगर नागपुर के अध्यक्ष प्रितम खडतकर, डाॅ. दिनेश लांजेवार, डाॅ. सुबोध बिसवास, डाॅ. फरजाना अहमद ने लगाया है.

परिसर के नागरिकों ने मनपा आयुक्त राधाकृष्ण बी, महापौर दयाशंकर तिवारी, अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी, दक्षिण नागपुर के विधायक मोहन मते को कई बार निवेदन सौंपा है. लेकिन इस गंभीर समस्या की ओर प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है.