Published On : Wed, Jan 15th, 2020

आओ निवेश करो, देंगे सुविधाएं : राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत की नागपुर उद्यमियों से अपील

नागपुर. राजस्थान में पिछले कुछ समय में उद्योग, ऊर्जा, स्वास्थ्य और सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय बदलाव आये हैं. अच्छी बात यह है कि जो लोग वर्षों पहले राजस्थान से गए थे, वे अपने जन्मस्थान में निवेश कर राजस्थान को उन्नत बनाने का काम कर रहे हैं. हम निवेशकों को वास्तविक ‘सिंगल विंडो’ सिस्टम ला रहे हैं, जो उद्यमियों के सारे झंझटों को समाप्त कर देगा. उक्त विचार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने व्यक्त किए. 

शहर के उद्यमियों की ओर से आयोजित सत्कार कार्यक्रम को वे संबोधित कर रहे थे. सत्कार के उत्तर में उन्होंने कहा कि यह देखकर अच्छा लगता है कि राजस्थानी जहां एक ओर सीमा सुरक्षा में अहम भूमिका निभा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर पूरे देश में उद्योग और व्यापार को संचालित कर रहे हैं. बड़े-बड़े अधिकांश घरानों की नींव राजस्थान ही है. आज यही घराने वाले राजस्थान का ऋण भी चूका रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि सोलर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए भी बड़े कदम उठाये जा रहे हैं. निवेश करने वालों को आधी कीमत पर जमीन दी जाएगी. शुल्क में भारी छूट दी जा रही है. राज्य का लक्ष्य 30,000 मेगावाट तक पहुंचने का है. इसके लिए जो भी सुविधाएं लगेगी राज्य सरकार देगी. 

निरोगी राजस्थान की पहल
गहलोत ने कहा कि राज्य में सभी को मुफ्त में दवाएं देने की योजना शुरू की गई है. इसी प्रकार 60 प्लस को मुफ्त में एमआरआई की भी सुविधा होगी. हम चाहते हैं कि राज्य आने वाले दिनों में लोग स्वास्थ्य सेवाओं पर एक रुपये का भी खर्च न करे. कई हास्पिटल निजी क्षेत्र के लोगों ने बनाये हैं. इसका बड़े पैमाने  पर विस्तार करने की भी योजना राज्य सरकार की है. 

3 वर्ष बिना लाइसेंस के उद्योग
राजस्थान के  ऊर्जा मंत्री बी. डी. कल्ला ने कहा कि राज्य में नई औद्योगिक नीति लाई गई है, जिसके तहत कोई भी उद्योग बिना लाइसेंस के लगा सकता है और 3 वर्षों तक चला सकता है. हम आने वाले प्रत्येक निवेशक को बड़ी सहूलियतें दे रहे हैं. 

मंच पर श्री विनोद माहेश्वरी, गिरीश गांधी, रमेश बंग, सत्यनारायण नुआल, डा. भूषण कुमार उपाध्याय, श्री निमिष माहेश्वरी, दीपेन अग्रवाल, मुन्ना ओझा उपस्थित थे. 

सत्कार करने वालों में बी. सी. भरतिया, राजेंद्र पुरोहित, अश्विन मेहाडिया, कैलाश जोगानी, विष्णु पचेरिवाला, तेजिंदर सिंह रेणु, श्रवण मालू, राजेश लखोटिया, पूनम मालू, संजय अग्रवाल, रमेश जायस्वाल, योगेश कटारिया, महेंद्र शर्मा, मनोज शर्मा, श्याम सोनी, संजय अग्रवाल, राकेश ओला, ओ.एस. बगडिया, प्रमोद गांधी, हरिश राठी, महेश राठी, उमंग अग्रवाल, अशोक मोखा, बी. शाह, अतुल कोटेचा, गुड्डू तिवारी, नितिन खारा का समावेश था. कार्यक्रम में   अरुण लखानी, अशोक कुमार गांधी, नरेश पाटनी, नंदू सारडा, विजय पाटनी, उमेश पाटनी, निलेश अग्रवाल, दिनेश अग्रवाल, राजेश अग्रवाल, राजेश सरावगी, गिरीश राठी, निलेश राठी, हेमंत गांधी, श्याम अग्रवाल, गोविंद राठी, किशोर सेठ, निलेश पनपालिया, लतेश अग्रवाल, पवन चोखानी, संतोष टावरी, शरद अग्रवाल, सचिन जाजोदिया, अश्विन अग्रवाल, अनिल अग्रवाल उपस्थित थे.