Published On : Sat, Sep 7th, 2019

नागरिको का आर्थिक शोषण करने को शहर का विकास नहीं कहा जाता : राजेश काकड़े

नागपुर: नागपुर में कुछ ही दिनों में राज्य के विधानसभा चुनाव होने जा रहे है. विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनसुराज्य पार्टी की ओर से भी तैयारियां हो चुकी है. पार्टी कार्यकर्ताओ की ओर से कई वर्षो से नागरिको की समस्या सुलझाने के लिए प्रयास किए जा रहे है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश काकड़े ने नागरिको के लिए विभिन्न मुद्दों पर कई बार प्रदर्शन और आंदोलन किए है. बिजली बिल से लेकर बेरोजगारी तक के मुद्दे वे उठा चुके है.’ नागपुर टुडे ‘ की ओर से उनके साथ बातचीत की गई जहां उन्होंने विभिन्न मुद्दों पर और सरकार के कार्यो पर अपनी राय और प्रतिक्रिया दी. काकड़े ने बताया की विकास का मायना यह नहीं है की पुरानी चीजों को तोड़ा जाए और उसको नए सिरे से बनाया जाए और इसका बोझ भी नागरिको पर ही डाला जाए. नागरिको का आर्थिक शोषण करके उनपर टैक्स लादकर विकास नहीं हो सकता.

इस समय पार्टी के महासचिव चन्द्रभान रामटेके ने बताया की हमारी दो से तीन पार्टियों के साथ चर्चा हो रही है. जिसके बाद निर्णय लिया जाएगा की किन किन सीटों पर चुनाव लड़ा जाए. उन्होंने कहा की आनेवाले चुनावों में बिजली, किसानो और बेरोजगारी के मुद्दे पर हम नागरिको को एकजुट करेंगे। उन्होंने कहा की बेरोजगारी के मुद्दे पर आश्वासन देनेवाली भाजपा सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया। कई कॉर्पोरेट कंपनियों को जमीने दी गई है. लेकिन इसका कोई भी फायदा यहाँ के नौजवानो और किसानों को नहीं हुआ है. सरकारी नौकरी की कुछ ही जगह निकलती है. लेकिन इसके लिए लाखो को आवेदन करते है. जिसका करोडो रुपए सरकार के पास जाता है. लेकिन फिर भी युवाओ को जॉब नहीं मिल पाता है.जीएसटी के कारण छोटे छोटे व्यापारियों के धंदे चौपट हो गए है. पृथक विदर्भ के मामले में भी सरकार ने अन्याय किया है.