Published On : Tue, Dec 10th, 2019

शिवाजी पुतले के सामने ही किया मुख्यमंत्री का पुतला जलाया

Advertisement

– महाविकास आघाडी सरकार के विरोध में भाजपा का तहसिल पर मोर्चा,सप्टेंबर 2019 के पहले शासन ने मंजूर की निधि पर लगी स्थगिती हटाने की मांग ,मुख्यमंत्री के नाम का निवेदन उपविभागीय अधिकारी को सौंपा

नागपुर/ हिंगणा: सोमवार को हिंगणा में शिवाजी महाराज पुतले के सामने ही 15 दिन पहले बने शिवसेना के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पुतले को फूंक कर उसपर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जूते चप्पल मार कर अपना विरोध दर्ज कराया।

Advertisement
Advertisement

यह मोर्चा पहले की सरकार ने पिछले पाच सालो में बहोत विकास कार्य किया है। सप्टेंबार 2019 के पूर्व मंजूर विकास कार्य और निधि जिसका काम आचार संहिता की वजह से टेंडर होकर काम शुरू नहीं हो पाया। इस कामो के भूमिपूजन होकर नागरिक काम शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं।

ऐसे में नई महाविकास आघाड़ी सरकार ने पहले ही निर्णय में पुराने विकास कार्य को स्थगित दी है। जिससे क्षेत्र की विकास काम रुक गया है। सभी विकास कार्य शुरू करने के लिए दी गई स्थगित को हटाने की मांग को लेकर भाजपा की ओर से हिंगना विधानसभा के विधायक समीर मेघे के नेतृत्व में मोर्चा निकाल कर मुख्यमंत्री के नाम का निवेदन उपाविभगिय अधिकारी इंदिरा चौधरी तहसीलदार संतोष खांडरे को सौंपा।

सोमवार को शाम 4.00 बजे रायपुर स्थित डॉ बाबासाहेब आंबेडकर के पुतले को अभिवादन कर वहीं से मोर्चा निकाला गया। मोर्चे में सरकारविरोध के नारेबाजी करते हुवे मोर्चा हिंगना स्थित शिवाजी चौक पहुंचा। जहा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का पुतला जलाया गया। मोर्चा तहसील कार्यालय पर पोहच निवेदन दिया गया।

इस वक्त विधायक समीर मेघे, वानाडोगरी न प की नगराध्यशा वर्षा शाहाकार, बूटीबोरी न प के नगराध्यश बबलू गौतम, हिंगना न प की नगराध्यशा छाया भोस्कर, पूर्व जि प सदस्य अंबादास उके, सुधाकर ढोणे, वंदना पाल, विशाल भोसले, हरिश्चंद्र अवचट, धनराज आष्टनकर, सुरेश कालबांडे, सुजित नितनवरे, आकाश वानखेडे, अजय बोढारे, विनोद ठाकरे, अजय बुधे, नरेंद्र बेहरे, कृपा गुप्ता, बाळू मोरे, नितीन साखळे, आभा काले, सचिन मेंडजोगे, आदर्श पटले, विकास दाभेकर, राजू हरडे,अजय घवघवें, अरुण कोहळे, अनील चानपुरकर, सतीश निघोट, उमेश आंबटकर, कमलेश खोब्रागडे, हरिश आंबटकर, पंकज गजबे, विजय राऊत, भोजराज घोडमारे, नरेश चरडे , आनंदबाबू कदम, राजू हरडे, कैलास गिरी, कमलाकर इंगळे आदि हजारों भाज पा पदाधिारि व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement